1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मोदी ने आईपीएल दस्तावेज़ बीसीसीआई को सौंपे

निलंबित आईपीएल चेयरमैन ललित मोदी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि ट्वेंटी20 लीग से संबंधित सभी कागज़ात बीसीसीआई को सौंप दिए गए हैं. ये दस्तावेज़ बीसीसीआई के ऑफ़िस में ग़ायब थे. बीसीसीआई ने कागज़ात मिलने की पुष्टि की है.

default

इन दस्तावेज़ों में ऑरिजनल कॉपी (मूल प्रति) के साथ साथ नोटरी कॉपियां भी हैं. इनमें फ़्रैंचाइज़ी समझौते, मीडिया राइट्स समझौते, मीडिया राइट्स पैकेज, नीलामी दस्तावेज़, मीडिया राइट्स लाइसेंस समझौते, स्पॉन्सरशिप समझौते से संबंधित कागज़ात शामिल हैं.

ये दस्तावेज़ ललित मोदी के वकील महमूद आबदी ने बीसीसीआई के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (सीएओ) रत्नाकर शेट्टी को सौंपे हैं.

ये दस्तावेज़ बीसीसीआई के ऑफ़िस से ग़ायब थे और 26 अप्रैल को आईपीएल गवर्निंग काउंसिल की बैठक में रत्नाकर शेट्टी को इन्हें एकत्र करने की ज़िम्मेदारी सौंपी गई थी. रिपोर्टों के मुताबिक़ इन दस्तावेज़ों की एक प्रति मोदी के पास है जिसे उन्होंने अपने रिकॉर्ड के लिए रखा है.

Der Vorsitzende der indischen Cricketliga (IPL) Lalit Modi

रत्नाकर शेट्टी से जब न्यूज़ एजेंसी पीटीआई ने संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि आईपीएल से संबधित अभी कुछ और कागज़ात है जिन्हें मोदी को सौंपना है. "कुछ और दस्तावेज़ हैं और हमें बताया गया है कि वे अगले दो तीन दिनों में हमें मिल जाएंगे."

शनिवार को दिल्ली में ललित मोदी ने कहा है कि अपने ऊपर लगे आरोपों का जवाब वह ख़ुद देंगे. "मुझे कारण बताओ नोटिस जारी किया गया और उसी सिलसिले में जवाब को अंतिम रूप से तैयार करने के लिए यहां आया हूं. मैं ख़ुद अपना जवाब पेश करूंगा क्योंकि मेरे पास छिपाने के लिए कुछ भी नहीं है."

इंग्लैंड में बाग़ी ट्वेंटी20 लीग शुरू करने के आरोपों पर बीसीसीआई ने ललित मोदी को दूसरा कारण बताओ नोटिस जारी किया है. इस नोटिस को मज़ाक बताते हुए मोदी ने कहा कि क्रिकेट बोर्ड उनके साथ दुश्मन नंबर वन की तरह व्यवहार कर रहा है और यह उनकी ज़िंदगी का हिस्सा बन गया है. "यह मेरी ज़िंदगी का हिस्सा है. मैं लंबे समय से बीसीसीआई का दुश्मन नंबर वन हूं."

कई दिनों की चुप्पी तोड़ने के बाद मोदी ने कहा है वह इंग्लैंड में बाग़ी लीग शुरू करने के आरोपों पर फ़िलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं देंगे. नोटिस का जवाब देने के लिए उनके पास 15 दिनों का समय है. तमाम आरोपों के बावजूद भी मीडिया के सामने अपने पुराने तेवर बरक़रार रखने की कोशिश करते हुए मोदी ने कहा कि वह कहीं नहीं गए हैं. उन्हें सिर्फ़ निलंबित किया गया है और बात सिर्फ़ इतनी ही है.

मोदी से जब पूछा गया कि क्या उनके निलंबन का प्रभाव आईपीएल पर पड़ेगा तो मोदी ने कहा कि आईपीएल का ढांचा इतना मज़बूत है कि इन मुश्किलों का आसानी से झेल ले. "हमने एक मज़बूत ढांचा बनाया है. मुझे नहीं लगता कि आईपीएल को कोई नुकसान पहुंचेगा. हमारे पास आईपीएल चलाने के लिए बेहद कुशल लोग हैं." मोदी का कहना है कि आईपीएल एक बेहद प्रभावी ब्रांड है और यह भी समझने की ज़रूरत है कि आईपीएल एक ग्लोबल ब्रांड है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: आभा मोंढे

DW.COM

संबंधित सामग्री