1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मोदी के सीबीआई जांच के दायरे में आने की अटकलें

सोहराबुद्दीन शेख मुठभेड़ मामले में गिरफ्तार गुजरात के पूर्व मंत्री अमित शाह से पूछताछ के दौरान मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम आने की अटकलें हैं. लेकिन मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए केंद्र सरकार चुप्पी बरत रही है.

default

संसद के बाहर अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री सलमान खुर्शीद ने बताया, "किसी भी लोकतंत्र के लिए यह हताश करने वाली स्थिति है. कोई क्या कहता है या करता है इसके बारे में सावधानी बरती जानी चाहिए. हमें ख्याल रखना चाहिए कि कोई देश के कानून का उल्लंघन न करे. सुप्रीम कोर्ट का आदेश सर्वोपरि होता है. हम ऐसे मामलों पर कोई टिप्पणी नहीं कर सकते." 2002 में गुजरात दंगों के मामले में नरेंद्र मोदी एसआईटी पूछताछ कर चुकी है.

ऐसी रिपोर्टें हैं कि सोहराबुद्दीन मुठभेड़ मामले में अमित शाह से पूछताछ के दौरान गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम बार बार सामने आया है. सलमान खुर्शीद से जब इस बारे में पूछा गया तो वह सवाल से बचते नजर आए. माना जा रहा है कि यह मुद्दा बेहद संवेदनशील है इसलिए सरकार सतर्कता बरतते हुए इस मुद्दे पर कुछ भी कहने से बच रही है. उसे डर है कि इस मुद्दे पर विरोध प्रदर्शन भड़क सकते हैं.

सोहराबुद्दीन शेख को फर्जी मुठभेड़ में मारने का आरोप गुजरात पुलिस पर लगा है. जिस समय यह मुठभेड़ हुई उस दौरान नरेंद्र मोदी ने गुजरात के गृह मंत्री का पद भी संभाला हुआ था. मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी से पूछताछ के सवाल पर कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने कहा, "सीबीआई गहन जांच करने में जुटी है और आप सभी को जांच के पूरे होने का इंतजार करना चाहिए."

सोहराबुद्दीन मुठभेड़ मामले में पुलिस ने गुजरात के पूर्व गृह राज्य मंत्री अमित शाह, आईपीएस अधिकारी अभय चुडासामा और अरहम फार्म के मालिक राजेंद्र जीरावाला को गिरफ्तार कर लिया है. सीबीआई ने बुधवार को अमित शाह से साबरमती जेल में पूछताछ की. 2005 में सोहराबुद्दीन को पुलिस ने एक मुठभेड़ में मारने का दावा किया था.

इसके बाद उनकी पत्नी कौसर बी और एक प्रत्यक्षदर्शी तुलसी प्रजापति को एक बस स्टैंड से अगवा किया गया. कौसर बी अब भी लापता हैं और उनका शव बरामद नहीं हुआ है. प्रजापति के बारे में कहा जाता है कि वह एक मुठभेड़ में मारे गए. पुलिस पर फर्जी मुठभेड़ करने का आरोप लगा है. इस साल की शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट ने मामले की जांच सीबीआई को सौंपी है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: वी कुमार