1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मोदी का अमेरिका दौरा और डिजिटल इंडिया का सपना

मोदी के अमेरिका दौरे पर एक बार फिर रॉकस्टार जैसी धूम रही. भारत को डिजिटल क्षेत्र में आगे बढ़ाने को लेकर कई प्रयास और वायदे भी हुए.

रोशनी की चकाचौंध और "मोदी, मोदी!" के नारे के साथ अमेरिका के सैन जोस में करीब 18,000 लोगों ने भारतीय प्रधानमंत्री के सिलिकॉन वैली के अंतिम आयोजन में उनका स्वागत किया. अमेरिका के आधिकारिक दौरे पर गए प्रधानमंत्री मोदी ने गूगल और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियों के साथ कुछ समझौतों पर हस्ताक्षर भी किए.

इन समझौतों के केंद्र में भारत में चलाए जा रहे "डिजिटल इंडिया" जैसे अभियान हैं. गूगल ने अगले साल के अंत तक भारत के 500 रेलवे स्टेशनों पर मुफ्त वाई फाई की व्यवस्था कर इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध कराने की सहमति दी है. वहीं माइक्रोसॉफ्ट ने देश के 5 लाख गांवों तक सस्ता ब्रॉडबैंड पहुंचाने का वादा किया है. मोदी ने दो दिनों के अपने इस दौरे में विश्व की प्रमुख अमेरिकी कंपिनयों के प्रमुखों से मुलाकात की और सैन जोस के स्पोर्ट्स अरीना में भारतीय समुदाय के लिए आयोजित एक समारोह में शिरकत की.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत में स्टार्टअप कंपनियों का अपना भी एक इकोसिस्टम तेजी से विकसित हो रहा है. अमेरिका में नासकॉम द्वारा आयोजित एक स्टार्टअप इवेंट में मोदी ने बताया कि भारत में इस चलन को और बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं. उन्होंने भारत और अमेरिका को इनोवेशन और तकनीक के क्षेत्र में एक दूसरे का सच्चा साझेदार बताया.

मोदी ने विश्वास जताया कि स्टार्टअप कल्चर के कारण देश में नई नौकरियां पैदा होंगी और भारत विकास की ओर तेजी से आगे बढ़ेगा. उन्होंने कहा, "हमारे स्टार्टअप केवल व्यावसायिक सफलता की कहानिया ही नहीं हैं, बल्कि सामाजिक नवाचार के शक्तिशाली उदाहरण भी हैं." प्रधानमंत्री ने आगे बताया कि जिस गति से भारत के लोग डिजिटल तकनीकों को अपना रहे हैं, वह उम्र, शिक्षा, भाषा और आय के सभी घिसे पिटे विचारों को झुठलाता है.

मोदी के डिजिटल इंडिया अभियान के केंद्र में देश के करीब एक अरब मोबाइल फोन हैं. करोड़ों लोगों के पास स्मार्टफोन और इंटरनेट पहुंच चुका है और इसका तेजी से विस्तार हो रहा है. यह अभियान तकनीक की मदद से शासन का कायाकल्प करने, नागरिकों को सशक्त बनाने, सभी को समान अवसर उपलब्ध कराने और सामाजिक बदलाव लाने पर आधारित है. 1982 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के बाद कैलिफोर्निया का दौरा करने वाले मोदी पहले प्रधानमंत्री हैं.

DW.COM