1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

मैर्केल और ओबामा ने दिया सहयोग पर जोर

दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में जी-20 देशों की शिखर भेंट से पहले जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मुद्रा और निर्यात नीति पर मतभेदों और विवाद के बावजूद सहयोग करने की इच्छा पर जोर दिया है.

default

ओबामा ने भेंट से पहले कहा कि जर्मनी और अमेरिका को एक मजबूत सहयोग एक दूसरे के साथ जोड़ता है. उन्होंने कहा कि बातचीत के मुद्दों में संतुलित और स्थिर विकास भी शामिल होगा.

चांसलर मैर्केल ने विश्व की 20 बड़ी आर्थिक सत्ताओं की बैठक में नतीजों को संभव बनाने के लिए दोनों देशों की साझा जिम्मेदारी पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि बैठक से पहले ऐसा संदेश जाना चाहिए "जो विश्व भर में विकास को आगे ले जाए."

G20 Seoul Barack Obama Angela Merkel

इससे पहले चांसलर मैर्केल ने व्यापार संतुलन में निर्यात के लाभ को सीमित करने की अमेरिकी मांग ठुकरा दी. जर्मनी ने धीमी चल रही अमेरिकी अर्थव्यवस्था में गति लाने के लिए उसमें अरबों डॉलर झोंकने के रिजर्व बैंक फेड के फैसले की भी आलोचना की है.

इसके विपरीत भारत ने अमेरिका में मांग बढ़ाने के कदम को सही ठहराया है. भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी सियोल में जी-20 की बैठक में भाग ले रहे हैं.

संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने जी-20 नेताओं से अपील की है कि वे अपने फैसलों में गरीबों को न भूलें. उन्होंने कहा, "अर्थव्यवस्था के स्वस्थ होने की प्रक्रिया धीमी है. साढ़े छह करोड़ लोग भूखमरी के शिकार हैं."

रिपोर्ट: एजेंसियां/महेश झा

संपादन: एन रंजन

DW.COM

WWW-Links