1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मैदान में हांफता अमीर रियाल

रियाल मैड्रिड इन दिनों अपनी जगहंसाई करा रहा है. एक खिलाड़ी पर 10 करोड़ यूरो लुटाने के बाद टीम को लगा कि वो तहलका मचा देगी, लेकिन हकीकत है ये कि उस सौदे का एक एक यूरो बर्बादी जैसा लग रहा है.

मंगलवार रात चैंपियंस लीग के मुकाबले में रियाल का मुकाबला इटली के क्लब युवेंटस से हुआ. युवेंटस को रियाल की तुलना में कमजोर माना जा रहा था. लेकिन इतालवी क्लब ने रियाल की हालत खस्ता कर दी. ग्रुप बी का ये मुकाबला 2-2 से ड्रॉ रहा.

मैच के दौरान एक बार फिर साफ हो गया कि रियाल मैड्रिड की रक्षापंक्ति बहुत कमजोर है. रियाल की इज्जत गोलकीपर और कप्तान इकर कासियास ने बचाई. अच्छे अटैक के लिए मूव बनाने में भी टीम को मुश्किल हुई. क्रिस्टियानो रोनाल्डो, गारेथ बेल और करीम बेंजिमा जैसी अटैकिंग लाइन के बावजूद टीम दो ही गोल कर सकी. रियाल मैड्रिड ने मौजूदा सत्र से पहले 10 करोड़ यूरो में गारेथ बेल को खरीदा था. सौदे से रियाल ने बेल को सबसे महंगा खिलाड़ी बना दिया. लेकिन अब धीरे धीरे टीम को अहसास हो रहा है कि बेल में वो बात नहीं.

Ronaldo Real Madrid 14.09.2013 Vertragsverlängerung

अकेले पड़ते रोनाल्डो

वहीं दूसरी तरफ युवेंटस के पास नए खिलाड़ियों को खरीदने के लिए कुल बजट ही 3.1 करोड़ यूरो का था. आर्थिक रूप से कमजोर होने के बावजूद टीम ने शानदार खेल दिखाया और साबित कर दिया कि सिर्फ पैसा फेंकने से खेल नहीं चमकता. मैच के बाद रियाल पर तंज कसते हुए युवेंटस के कोच एंटोनियो कॉन्टे ने कहा, "हमने दिखा दिया कि मैदान पर खेलना खरीदारी की ताकत से ज्यादा अहम है. ट्रांसफर के सौदों का असर इस मैच में दिखाई ही नहीं पड़ा."

रियाल मैड्रिड साल 2000 से अब तक खिलाड़ियों को खरीदने में एक अरब यूरो खर्च कर चुका है. रियाल ने ज्यादार मौकों पर स्टार खिलाड़ी खरीदे. लेकिन इसके बावजूद टीम 2002 के बाद से अब तक चैंपियंस लीग फाइनल में भी नहीं पहुंच सकी है. बीते 12 सालों में रियाल ने सिर्फ 2000 और 2002 में चैंपियंस लीग जीती. इसके बाद टीम कभी सेमीफाइनल से आगे नहीं बढ़ सकी.

Campions League Bayer 04 Leverkusen gegen Schachtjor Donezk

बायर्न का विजय अभियान जारी

मंगलवार रात हुए एक और मुकाबले में चैंपियंस लीग की मौजूदा विजेता टीम बायर्न म्यूनिख ने चेक गणराज्य के क्लब विक्टोरिया प्लजेन को 1-0 से हराया. जीत के साथ ही जर्मन क्लब बायर्न चैंपियंस लीग के अगले दौर में पहुंच गई है. अब टीम नॉक आउट खेलेगी. बार्यन ने ग्रुप डी के सभी चार मैचे जीते और टीम 12 अंकों के साथ चोटी पर रही. ग्रुप डी में दूसरे स्थान पर रही टीम मैनचेस्टर सिटी ने भी नॉक आउट में कदम रख दिया है. मंगलवार को मैनचेस्टर सिटी ने सीएसकेए मॉस्को को 5-2 से हराया. ड्रॉ की वजह रियाल मैड्रिड और पैरिस सेंट जरमान अगले दौर में फिलहाल नहीं पहुंच सकी हैं.

बुधवार को पिछले साल चैंपियंस लीग की उपविजेता टीम बोरुसिया डॉर्टमुंड आर्सेनल से भिड़ेंगी. चेल्सी भी जर्मन क्लब शाल्के से पार पाने की कोशिश करेगी और ग्रुप एच में बार्सिलोना का सामना इटली के एसी मिलान से होगा.

ओएसजे/एजेए (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री