1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

फीडबैक

मैडम तुसाद में रितिक रोशन का पुतला

हमारी वेबसाइट को आप कितने ध्यान से देखते व पढ़ते हैं, पसंद करते हैं,यह पता चलता है हमें आपकी फीडबैक से, चाहे वे राजनीति के मुद्दे हो या धार्मिक, या फिर हों युवाओं के सपने.आइए जाने क्या क्या लिखा है......

default

मेरा ईमेल शामिल करने के लिए डीडब्ल्यू की टीम को बहुत बहुत धन्यावाद. मै डीडब्ल्यू टीम को बताना चाहूंगा कि मैं सन् 2003-04 से आपके प्रोग्राम सुनता आ रहा हं. ख़ास तौर पर उस समय शॉर्ट वेव रेडियो पर राम यादवजी द्वारा ज्ञान विज्ञान प्रोग्राम ज़रूर सुनता था. एक बात मैं और बताना चाहूंगा कि आपके प्रोग्राम सुनने का सिलसला कैसे शुरू हुआ, शायद शनिवार का दिन था मैं रेडियो ट्यून कर रहा था. तभी मुझे सुनाई दिया "क्या पृथ्वी के अलावा भी कही जीवन है" बस फिर क्या था. मैंने बहुत ध्यान से वह प्रोग्राम सुना, जो कि राम यादव सुना रहे थे उस समय से सन् 2008-09 तक डीडब्ल्यू के प्रोग्राम सुनता रहा हूं. तब 45 मिनट का हिंदी प्रसारण होता था, उसके बाद से मै किसी कारण से डीडब्ल्यू नहीं सुन पा रहा था. पर मैंने अब फिर से सुनना चालू कर दिया है. फर्क बस इतना है कि पहले रेडियो पर सुनता था लेकिन अब कंप्यूटर पर सुनता हूं. अभी और ढेर सारी बातें बतानी है पर वे अगली ईमेल में.

सौरभ रतन श्रीवास्तव, ईमेल से

***

" पाकिस्तान की मदद भारत के खिलाफ ना हो " - डॉयचे वेले की वेबसाइट पर बीजेपी अध्यक्ष नितिन गडकरी की चीन यात्रा से संबंधित रिपोर्ट पढ़ने को मिली. चीन द्वारा पाकिस्तान को सैन्य मदद देने तथा कश्मीर और अरूणाचल प्रदेश के लोगों को नत्थी वीजा देने को लेकर श्री गडकरी ने चीनी नेताओं के समक्ष जो आपत्ति प्रकट की और इन विषयों पर दो टूक बातचीत की, इसके लिये वे प्रशंसा के पात्र हैं. जो बात प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी नहीं कह पाये, उसे गडकरी जी कह दिया. यह बिलकुल सही बात है, पाकिस्तान को सैन्य मदद करना आतंकवाद को समर्थन करने जैसा है.

चुन्नीलाल कैवर्त, ग्रीन पीस डी एक्स क्लब , जिला बिलासपुर, छत्तीसगढ़

***

युवा सपनों को पूरा करने की चुनौती -

Deutschland Tarifvertrag Verkehr Bahn Deutsche Bahn Uhr

भारतीय युवाओं के सपनों को क्या सरकार पूरा कर पाएगी, लेख बहुत सामयिक और उपयोगी था. युवा शक्ति आज असंभव को भी संभव बनाने में समर्थ है, लेकिन देश का राजनितिक नेतृत्व इसमें कहीं बाधा ना बन जाए यही डर लगता है. देश में राजनैतिक भ्रष्टाचार ने यदि युवाओं के हौसले को कमजोर कर दिया तो देश को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी. जर्मन और समय की पाबन्दी पर आपका वीडियो बहुत सकरात्मक जर्मन सोच को प्रतिबिम्बित करता है. समय की पाबन्दी के बारे में जर्मनी में सर्विस कर चुके हमारे एक परिचित ने बताया था कि जर्मन लोग समय के बहुत पाबन्द है. समय बहुत कीमती है और इसका पूरा पूरा सदुपयोग होना चाहिए, तथा हमें समय के साथ साथ चलना चाहिए.

प्रमोद महेश्वरी , फतेहपुर- शेखावाटी

***

तिरंगा मुद्दे पर सरकार ने घुटने टेके: आडवाणी :

सरदार वल्लभ भाई पटेल ने अखंड भारत का निर्माण किया था. उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि आज की युवा को अपने तिरंगे को फहराने के लिए किसी से अनुमति लेनी पड़ेगी क्योंकि पी.एम. के बयान से लगता है कश्मीर भारत का अंग नहीं है.कुछ दिनों में आप हमें अरुणाचल में तिरंगा नहीं फहराने देंगे. भारत की युवा शक्ति राहुल से जवाब चाहती है.

संजय पाण्डेय

हमें अपने देश में ही तिरंगा फहराने की अनुमति नहीं है तब हिंदुस्तान स्वतंत्र कहां.

विजय

***

Pakistan Schauspielerin Veena Malik

वीना मलिक ने मुफ्ती को ललकारा - इस्लामी कट्टरपंथियों के विरुद्ध वीना मलिक का कहना एकदम सही है.. " अगर आप इस्लाम की बात करते हैं तो आप मुझे इस हालत में देख भी नहीं सकते. आपको सरे आम सजा मिलनी चाहिए..."

आशीष , ईमेल से

***

मुझे आपका डॉयचे वेले बहुत अच्छा लगा यह सब जगहों की ख़बरों का बहुत बढ़िया समाचार पत्र है इससे और दुनिया की जानकारी भी मिलेंगी. उम्मीद करता हूं इसकी भाषा, हिंदी में जो दी गई है वह भी बढ़िया तरीके से दी गई. यह भेजने वाले हैं ब्रिज किशोर खंडेलवाल. इन्होने हमारी वेबसाइट पर विभिन्न आलेखों पर भी अपने विचार भेजे हैं:

मैडम तुसाद में ऋतिक रोशन का पुतला - अपना ही दूसरा रूप देख कर हर कोई आश्चर्यचकित हो जाता है कितना आश्चर्यजनक है दुनिया का यह कदम. एक के बाद एक का पुतला. ऋतिक को बधाई.

वीना मलिक पर लाहौर में मुकदमा - हिंदुस्तान हो या कोई भी अरब देश, महिलाओं पर सख्ती क्यों. महिलाओं ने ही आज बहुत से देशों में अपने देश का नाम कमाया है. वीना मालिक हो या कोई और हो, उसकी आज़ादी पर रोक नहीं होनी चाहिए, वह भी अपनी ज़िन्दगी जीने के लिए कुछ कर रही है.

पूर्व स्विस बैंकर दोषी , लेकिन जेल नहीं - जिस आदमी को स्विस बैंक में अकाउंट रखने वालों का नाम और उसकी जानकारी मिली उसको जेल ना हो, इतना तो भारत सरकार को करना ही चाहिए. उसने अपनी जान पर खेल कर विकिलीक्स को सूचना दी, उसको बचाया जाए.

कैंसर की खेती - बहुत ही दुःख हुआ ट्रेन का नाम कैंसर रखा गया, क्यों ना पंजाब के अन्दर ही इस कैंसर के रोगियों के लिए अस्पताल बनाये जाए. रोग पंजाब में हो और इलाज़ बीकानेर में. इस बीमारी की जड़ को भी उन प्रयत्नों से तुरंत दूर किया जाना चाहिए जिससे इस कैंसर के रोगी कम हों.

हंगल के इलाज के लिए कई फ़िल्मी हस्तियां देंगी मदद - मुझे बहुत ख़ुशी कि देश के बॉलीवुड के कलाकारों ने हंगल साहब की बीमारी के लिए उनके स्वाथ्य के लिए अपने हाथ खड़े करके उनकी मदद की .सब एक साथ प्रार्थना करें कि हंगल साहब जल्द से जल्द ठीक हो जाएं.

विकीलीक्स की सूची में भारतीयों जैसे नाम - अभी इंतजार कीजिये ज्वालामुखी फटेगा, सब देखेंगे कौन कौन स्विस बैंक अकाउंट रखने वाले हैं और कौन इनका रूपया वहां डिपॉज़िट करता था

***

संकलनः विनोद चढ्डा

संपादनः आभा एम