1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मैकिंटोश की पारी और दिन खत्म

हैदराबाद टेस्ट में बल्लेबाज कुछ हावी रहे लेकिन अब भी मैच में दोनों टीमें बराबरी पर हैं. कल लंच से पहले जो हावी रहा मैच पर उसी की पकड़ होगी.

default

प्रज्ञान ओझा

पहले दिन का खेल खत्म होने तक न्यूजीलैंड ने चार विकेट खोकर 258 रन बना लिए. खेल खत्म होने से कुछ ही देर पहले चौथा विकेट मैकिंटोश के रूप में गिरा. हालांकि आउट होने से पहले उन्होंने अपनी सेंचुरी पूरी की. 102 रन बनाकर वह जहीर खान की गेंद पर चकमा खा बैठे और बोल्ड हो गए. तब स्कोर हुआ था 253 रन.

इससे पहले जहीर खान ने रॉस टेलर को धोनी के हाथों कैच कराया. टेलर 24 रन बनाकर आउट हुए. तब न्यूजीलैंड का स्कोर था 206 रन.

मार्टिन गुप्तिल ने बढ़िया खेल दिखाया और भारतीय गेंदबाजों को खासी मेहनत कराई. लेकिन शतक के करीब पहुंचकर वह गलती कर बैठे. 85 के निजी स्कोर पर गुप्तिल को प्रज्ञान ओझा ने आउट कर दिया. तब न्यूजीलैंड का स्कोर 151 रन था. इस बीच मैकिंटोश ने भी अपना अर्धशतक पूरा कर लिया.

न्यूजीलैंड और भारत के बीच दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन लंच तक बराबर की टक्कर देखने को मिली. भारत ने एक विकेट लिया तो न्यूजीलैंड भी झटके से उबरने में कामयाब रहा. लेकिन उसके बाद कीवी बल्लेबाज हावी हो गए. अगला विकेट लेने के लिए भारत को 147 रन खर्च करने पड़े.

लंच से पहले न्यूजीलैंड को पहले झटके से उबरने में कुछ वक्त लगा. लेकिन उसके बाद मार्टिन गुप्तिल ने तेजी से रन बनाए और अपना अर्धशतक पूरा किया. इसके लिए उन्होंने पांच चौके और एक छक्का लगाया. इसके साथ ही टीम का स्कोर भी 100 के पार पहुंचा दिया.

इससे पहले अपने गेंदबाजों के करिश्मे के दम पर पहले टेस्ट मैच में हार को टालने वाली न्यूजीलैंड की टीम ने हैदराबाद टेस्ट में टॉस जीतकर बैटिंग चुनी. हालांकि उनकी पारी की धीमी शुरुआत हुई. लंच तक वह एक विकेट खोकर 75 रन बना पाई.

भारत ने हैदराबाद में अच्छी शुरुआत की. गेंदबाज पहला विकेट झटकने में जल्दी ही कामयाब हो गए, जब महज 4 के स्कोर पर श्रीशांत ने ब्रेंडन मैकुलम का शिकार किया. मैकुलम ने हाथ एक चौके के साथ खोले थे. लेकिन श्रीशांत की एक गेंद उनके बल्ले को छू कर सीधे विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के हाथों में चली गई और अंपायर ने आउट का इशारा देने में देर नहीं लगाई.

मैकुलम के जाने के बाद ओपनर मैकिंटोश का साथ देने आए गुप्तिल गेंदबाजों के हर झांसे को आसानी से पार करते रहे. लंच तक उन्होंने दो चौके और एक छक्का लगाकर 36 रन बना डाले. उनसे पहले से खेल रहे मैकिंटोश दूसरे छोर पर धीरे धीरे आगे बढ़ते रहे. लंच ब्रेक में जाने से पहले उन्होंने 25 रन बनाए जिसमें तीन चौक शामिल हैं.

अब अगर भारत कल सुबह के सेशन में विकेट लेकर न्यूजीलैंड को बड़ा स्कोर बनाने से रोक लेता है तो मैच पर पकड़ बनाना ज्याद मुश्किल नहीं होगा. फिलहाल जैसी राइडर और हॉपकिंस क्रीज पर हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री