1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मैं नहीं टाटा की उत्तराधिकारीः इंदिरा नूयी

पेप्सी कंपनी की सीईओ इंदिरा नूयी ने कहा है कि वह रतन टाटा की उत्तराधिकारी नहीं हैं. रतन टाटा अपने वारिस की खोज कर रहे हैं और अटकलें थीं कि इंदिरा नूयी उनका पद ले सकती हैं और टाटा ग्रुप का कार्यभार संभाल सकती हैं.

default

कौन संभालेगा टाटा की कुर्सी!

नूयी का कहना है कि वह अपना काम बहुत पसंद करती हैं. "रतन अद्भुत व्यक्ति हैं. उनके पास बहुत लोग हैं जो उनके उत्तराधिकारी बन सकते हैं. मैं दुनिया में सबसे बड़ी कंपनियों में से एक चला रही हूं और मुझे अपना काम बहुत पसंद है."

भारत के दक्षिणी शहर चेन्नई में पैदा हुईं नूयी दुनिया की एक बड़ी कंपनी की कर्ता धर्ता हैं जिसका सालाना राजस्व 60 अरब डॉलर का है. उनके यहां दो लाख 85 हज़ार कर्मचारी हैं. नूयी ने टाटा की तारीफ में कहा, "टाटा अविश्वसनीय कंपनी है. राष्ट्र को बनाने वाली कंपनी. असाधारण ग्रुप, देश का चेहरा है."

रतन टाटा के सौतेले भाई नोएल टाटा उनके उत्तराधिकारी बनने की दौड़ में सबसे आगे चल रहे हैं जबकि नूयी और अन्य लोग जैसे कि रेनो निसान आलियांज के सीईओ कार्लोस घोसन का नाम भी उम्मीदवारों की सूची में था. अगस्त के शुरुआत में ग्रुप ने कहा था कि अगले साल फरवरी मार्च के दौरान रतन टाटा के उत्तराधिकारी की घोषणा की जाएगी.

टाटा सन्स के उपाध्यक्ष एनए सूनावाला, वरिष्ठ ग्रुप डायरेक्टर आरके कृष्णकुमार, सायरस मिस्त्री, ग्रुप सलाहकार और वकील शिरीन भरूचा और ब्रिटिश व्यवसायी लॉर्ड भट्टाचार्य पांच सदस्यों वाले पैनल में हैं जो उत्तराधिकारी का चुनाव करेंगे. 2012 में रतन टाटा रिटायर होंगे.

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा एम

संपादनः वी कुमार

DW.COM