1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मेसी फिर महा मुकाबले में

लगातार चार बार फुटबॉल का सबसे बड़ा अवार्ड जीतने वाले अर्जेंटीना के लियोनेल मेसी एक बार फिर इस मुकाबले में शामिल हैं. जबकि उनके सामने चिर प्रतिद्वंद्वी क्रिस्टियानो रोनाल्डो और फ्रांक रिबेरी भी हैं.

यह लगातार छठा मौका है, जब मेसी को आखिरी तीन में शामिल किया गया है. वह लगातार चार बार से प्रतिष्ठित बैलोन डोर जीतते आ रहे हैं. फीफा और फ्रांस की फुटबॉल पत्रिका ने इस बात की जानकारी दी कि आखिर में इन तीनों खिलाड़ियों के नाम रखे गए हैं.

मेसी का नाम आखिरी तीन में आने के बावजूद इस बार उनकी जीत पर सवाल उठ रहे हैं क्योंकि वह लंबे वक्त तक चोटिल रहे हैं. दूसरी तरफ फ्रांस के फ्रांक रिबेरी के दम खम से जर्मन फुटबॉल टीम बायर्न म्यूनिख ने शानदार प्रदर्शन किया है और इस सत्र में तो उनकी टीम ने कोई हार भी नहीं देखी है. तीसरे खिलाड़ी रोनाल्डो ने 2008 में बैलोन डोर जीता लेकिन इसके बाद वह यह कामयाबी हासिल नहीं कर पाए.

इस पुरस्कार का फैसला राष्ट्रीय टीम के कप्तानों, कोचों और कुछ चुने हुए पत्रकारों के वोट से होता है. इस काम के लिए उन्हें दो हफ्ते का वक्त दिया जाता है. पुरस्कार 13 जनवरी को ज्यूरिख में दिया जाएगा.

रोनाल्डो की दावेदारी

पिछले चार साल में रोनाल्डो का नाम कई बार आखिरी लम्हों तक पहुंचा लेकिन उन्हें अवार्ड नहीं मिला. फुटबॉल की प्रतिष्ठित वेबसाइट गोल डॉट कॉम के मुताबिक रोनाल्डो का कहना है कि बैलोन डोर इतना भी अहम नहीं, "किसी फुटबॉलर के करियर में बैलोन डोर सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण चीज नहीं. अभी मेरे पास कई साल बचे हैं."

रोनाल्डो ने इस स्पैनिश लीग ला लीगा के 14 मुकाबलों में 11 में गोल किए. इनमें से कई मैचों में एक से ज्यादा गोल शामिल थे. उनकी तिकड़ी की मदद से पुर्तगाल ने स्वीडन को पराजित किया और वर्ल्ड कप में जगह बनाई. उनका कहना है, "निश्चित तौर पर इसे जीतना अच्छा लगता है लेकिन इसके साथ दुनिया नहीं खत्म हो जाती. कई बार महान खिलाड़ियों को यह पुरस्कार नहीं मिला है." उन्होंने 2018 तक स्पेनी क्लब रियाल मैड्रिड के साथ रहने का करार किया है.

Bayern München - FC Chelsea UEFA Super Cup

मुख्य मुकाबला रिबेरी और रोनाल्डो के बीच

रिबेरी का करिश्मा

जहां तक रिबेरी का सवाल है, उनका करिश्मा जम कर चल रहा है. उन्होंने जर्मन फुटबॉल टीम बायर्न म्यूनिख में जबरदस्त योगदान दिया है. कुछ मौके तो ऐसे भी रहे जब रिबेरी अकेले गेंद को 70 मीटर तक ले गए और गोल के शानदार मौके बनाए. रिबेरी की बदौलत टीम इस वक्त जर्मन फुटबॉल लीग, जर्मन कप और चैंपियंस लीग की विजेता है. फ्रांस के महान जिनेदिन जिदान को गुरु मानने वाले रिबेरी इस साल 22 गोल कर चुके हैं.

रिबेरी को इस साल का सर्वश्रेष्ठ यूरोपीय फुटबॉलर का अवार्ड मिल चुका है. 30 साल के रिबेरी ड्रिबलिंग के लिए खासे मशहूर हैं और कोनों पर गेंद लेकर तेजी से भाग सकते हैं. फ्रांस के लिए 80 मैच खेल चुके और चमक धमक से दूर रहने वाले रिबेरी हाल के बरसों में सबसे बड़े फुटबॉलरों में गिने जाने लगे हैं.

मेसी जैसा कोई नहीं

अर्जेंटीना के लियोनेल मेसी के बारे में बहुत कुछ लिखे कहे जाने की जरूरत नहीं. लगातार चार बार बैलोन डोर की जीत ही उनकी महानता बताती है. इस सीजन में घायल होने से पहले उनकी बूटों से 42 गोल निकल चुके हैं, जबकि अगले साल उनके महाद्वीप में वर्ल्ड कप होना है और अर्जेंटीना को मेसी से बहुत उम्मीदें हैं.

अर्जेंटीना के महान खिलाड़ी डियागो माराडोना के चहेते मेसी स्पेन के बार्सिलोना क्लब से खेलते हैं, जिसने हाल के सालों में काफी नाम कमाया है. 2008 में पहली बार उन्हें इस पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया था. उस साल तो रोनाल्डो ने खिताब जीता लेकिन उसके बाद से सूची में मेसी का नाम ही चल रहा है.

एजेए/ओएसजे (एएफपी, एपी, डीपीए)

DW.COM