1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मेसी ने तोड़ा जर्मन रिकॉर्ड

स्पेनिश लीग में बार्सिलोना के लिए दो गोल दाग कर मेसी गोलों की ऐसी संख्या पर पहुंच गए हैं जहां उन्होंने जर्मनी का 40 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ 86 गोल अपने नाम कर लिए. 1972 में द बॉम्बर मुलर ने 85 गोल का रिकॉर्ड बनाया था.

तीन बार के वर्ल्ड फुटबॉलर ऑफ द ईयर और बार्सिलोना के सबसे ज्यादा गोल बनाने वाले लियोनेल मेसी ने सिर्फ 25 साल की उम्र में दुनिया के किसी भी फुटबॉलर से ज्यादा गोल अपने नाम कर लिए हैं.

स्पेन की ला लिगा में मेसी ने दो गोल कर के 2012 में गोलों की संख्या 86 तक पहुंचा दी, 40 साल तक लगता था कि इस अंक तक पता नहीं कौन पहुंच पाएगा.

मेसी ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा, "मेरी टीम के साथियों और फैन्स को बहुत बहुत धन्यवाद जिनके कारण यह संभव हुआ. आपके बिना मैं ये नहीं कर सकता था." इन गोलों ने बार्का में मेसी को सबसे ज्यादा गोल बनाने वाला खिलाड़ी भी बना दिया है. अब उनके ला लिगा में कुल 192 गोल हैं. जबकि सेजर रोड्रिगेज ने 1933 से 1955 के बीच 190 गोल बनाए थे.

शानदार जोड़ी

गेर्ड मुलर को देश और दुनिया में द बॉम्बर के नाम से जाना जाता है. मीडिया में ज्यादा नहीं रहने वाले मुलर ने हाल ही में जर्मनी के अखबार डी वेल्ट से बातचीत में कहा, "मैं उसके लिए बहुत खुश हूं. दुनिया में वह अभी सबसे अच्छा खिलाड़ी है. उसे देखने में मजा आता है. मेरे लिए रिकॉर्ड का कोई बहुत मतलब नहीं है लेकिन अगर कोई इस रिकॉर्ड से आगे जा सकता है तो वह है मेसी."

हालांकि फुटबॉल के विशेषज्ञ मुलर के रिकॉर्ड को सबसे बढ़िया बताते हैं. बायर्न म्यूनिख के लिए खेलने वाले पश्चिमी जर्मनी के खिलाड़ी ने 85 गोल सिर्फ 60 मैचों में दागे. वहीं मेसी को 86 गोल तक पहुंचने में बार्सिलोना और अर्जेंटीना के साथ 67 गेम लगे.

मुलर जर्मनी के सबसे ज्यादा गोल बनाने वाले अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी हैं. उन्होंने पूर्व पश्चिमी जर्मनी की तरफ से 62 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 68 गोल बनाए. अब मिरोस्लाव क्लोजे उनके इस रिकॉर्ड को तोड़ने की फिराक में हैं. उनके 67 गोल तो बन गए हैं. हालांकि उन्होंने अभी तक 127 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल लिए हैं.

मुलर को कभी भी वर्ल्ड प्लेयर ऑफ द ईयर नहीं घोषित किया गया. मेसी और मुलर के खेलने का तरीका एक दूसरे से बिलकुल अलग है. मुलर को जर्मन टीम का सबसे अच्छा स्नाइपर कहा जाता था जबकि मेसी को फुटबॉल का पिकासो कहा जाता है. उन्होंने फुटबॉल में फॉल्स नाइन कंसेप्ट को विकसित करने में अहम भूमिका निभाई.

Gerd Müller

द बॉम्बर गेर्ड मुलर

मेसी वैसे तो बार्सिलोना के लिए सामान्य स्ट्राइकर के तौर पर खेलते हैं लेकिन अक्सर वह बॉल लेने के लिए मिडफील्ड तक पहुंच जाते हैं और इस कारण उनके बाकी साथी खिलाड़ी उस इलाके में घुस सकते हैं जो मेसी के कारण खाली हो गई है. इस कारण वह खुद गोल का मौका बना कर गोल करते हैं. यह एक तरीका है जो मुलर ने कभी इस्तेमाल नहीं किया.

हालांकि रिकॉर्ड 86 गोल पर रुक जाएगा ऐसा लगता नहीं क्योंकि साल खत्म होने से पहले मेसी अभी लीग के लिए तीन और गेम खेलने वाले हैं. अगर वह इन मैचों में गोल करने का कोटा बनाए रखते हैं तो हो सकता है कि 2013 से पहले उनके कुल गोलों की संख्या 90 तक पहुंच जाए.

रिपोर्टः मार्क हालाम/एएम

संपादनः मानसी गोपालकृष्णन