मेसी के खराब फॉर्म से चिंता | खेल | DW | 05.11.2013
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मेसी के खराब फॉर्म से चिंता

मेसी ने अपना स्तर इतना ऊंचा लिया है कि अगर वो एक दो मैचों में भी गोल ना करें तो लोग सिर खुजाने लगते हैं कि आखिर उन्हें हुआ क्या है. एसी मिलान से मुकाबले के पहले बार्सिलोना ऐसी ही स्थिति में है.

शुक्रवार को घरेलू मैदान एस्पानयोल में हुआ मुकाबला ला लीगा का लगातार चौथा ऐसा मैच रहा जिसमें फुटबॉलर ऑफ द ईयर लियोनेल मेसी ने कोई गोल नहीं किया. वो पूरे 90 मिनट तक मैदान पर रहने के बावजूद कोई गोल नहीं कर सके और करीब छह साल में पहली बार ऐसा हुआ है. सितंबर के आखिर में मांसपेशियों में एक मामूली खिंचाव ने मेसी के मौसम का रुख बिगाड़ दिया. वो ओसासुना, सेल्टा विको और रियाल मैड्रिड के खिलाफ भी गोल करने में नाकाम रहे. पिछले महीने चैम्पियंस लीग के मिलान में मैच में उन्होंने एक गोल किया था, जिससे मुकाबला बराबरी पर छूटा. उसके पहले अजाक्स एम्सटर्डम के खिलाफ सितंबर में हैट्रिक लगाई थी. ला लीगा में मेसी के 10 मैचों से आठ गोल का रिकॉर्ड दूसरे खिलाड़ियों की आंखों में चमक भरता है.

इन सब के बावजूद चेतावनी की घंटियां बज रही हैं. एक खेल अखबार ने खबर दी है कि बार्सिलोना के चार कप्तान खावी, कार्ल्स पुयोल, वाक्ट वाल्डेस और आंदर्स इनिएस्ता मेसी के गोल ना करने से काफी चिंता में हैं. इन चारों ने मेसी से मिलने का प्रस्ताव रखा है ताकि ये जान सकें कि क्या उन्हें किसी मदद की जरूरत है. मेसी ने खुद इस स्थिति के बारे में ज्यादा कुछ नहीं कहा है हालांकि उन्होंने चीनी सोशल नेटवर्किंग साइट वाइबो पर जरूर लिखा है कि वो पूरी तरह फिट नहीं हैं. मेसी ने लिखा है, "मैं अब भी शारीरिक रूप से सौ फीसदी फिट नहीं हूं लेकिन मुझे भरोसा है कि हर गुजरते दिन के साथ मैं लय में आ जाऊंगा."

बार्सिलोना के कोच गेर्राडो मार्टिनो भी मेसी के शहर रोजारियो से हैं. उन्होंने एस्पानयोल के मैच से पहले मेसी के फॉर्म पर उठती चिंता को खारिज किया है. उन्होंने पत्रकारों से कहा, "मेसी मुझे परेशान नहीं कर रहे हैं, यह महज संयोग है कि उन्होंने पिछले तीन या चार मैचों में कोई गोल नहीं किया. मेसी ने अपना स्तर इतना ऊंचा कर लिया है कि वो गोल नहीं करते तो तुरंत ही समस्या हो जाती है."

अगर मेसी बुधवार से पहले अपनी लय हासिल कर लेते हैं, तो मिलान मुसीबत में पड़ जाएगा क्योंकि सात बार का विजेता फिलहाल खराब फॉर्म से जूझ रहा है. शनिवार को घरेलू मैदान पर फियोरेन्टिना से सीरीज ए के मुकाबले में 2-0 से मिली हार ने उसे अंक तालिका में 11वें नंबर पर पहुंचा दिया. अब उन पर यूरोपीय लीग के अगले सत्र से बाहर होने का खतरा मंडरा रहा है. सान सीरो में मुकाबले के दौरान समर्थकों का गुस्सा खिलाड़ियों और अधिकारियों को झेलना पड़ा. सीटियां और हूटिंग के साथ ही क्लब की आलोचना का एक बड़ा बैनर भी नजर आया है. बैनर पर क्लब के खिलाड़ियों की ट्रांसफर नीति को लेकर सवाल उठाए गए हैं. कोच मासिमिलियानो एलेग्री ने भी माना है कि तीसरे मैच में टीम का प्रदर्शन उनके साढ़े तीन साल के कार्यकाल में सबसे बुरा रहा है. एलेग्री ने खिलाड़ियों को मिलानेलो के प्रशिक्षण केंद्र में आने को कहा है ताकि उनकी चिंताओं का हल ढूंढा जा सके.

एनआर/एएम (रॉयटर्स)

DW.COM