1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मेसी का जादू तोड़ने को बेकरार

पुर्तगाल के करिश्माई फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो एक बार फिर से बैलोन डॉर का अवार्ड हासिल करना चाहते हैं और लगातार चार साल से चले आ रहे मेसी के तिलिस्म को तोड़ देना चाहते हैं. एलान सोमवार को.

बार्सिलोना के लियोनेल मेसी को लगातार चार बार से फुटबॉल का सबसे बड़ा पुरस्कार बैलोन डॉर दिया जा रहा है और रोनाल्डो के हाथ मायूसी ही लग रही है. हालांकि इससे पहले वह एक बार इस पुरस्कार को 2008 में जरूर जीत चुके हैं. मेसी और रोनाल्डो के अलावा फ्रांस के फ्रांक रिबेरी भी इस मुकाबले में हैं. रिबेरी की टीम बायर्न म्यूनिख ने पिछले सीजन में तिहरी कामयाबी हासिल की है. इसके अलावा उसने क्लबों का विश्व चैंपियन भी जीता.

रोनाल्डो के लिए 2013 बहुत अच्छा साल रहा है, जिसमें उन्होंने लंबी कामयाबी हासिल की है और कई बार हैट ट्रिक भी लगाए हैं. दूसरी तरफ मेसी को इस दौरान घायल रहना पड़ा और उनके नाम कम मैच रहे हैं. खेल दैनिक मार्का ने लिखा है, "रोनाल्डो के करियर में 2013 अब तक का सबसे अच्छा साल रहा है. इस वजह से वह बैलोन डॉर जीतने का हक रखते हैं."

Fußball WM 2014 Qualifikationsspiel Schweden - Portugal Jubel Ronaldo

मेसी को चुनौती देते रोनाल्डो

पिछले सीजन में रोनाल्डो ने स्पेनी लीग में मेसी के 46 गोलों के मुकाबले 34 गोल किए थे. लेकिन इस सीजन में वह अब तक 20 गोल कर चुके हैं. चैंपियंस लीग में भी नौ गोलों के साथ वह सबसे ऊपर हैं, जबकि वर्ल्ड कप क्वालिफाइंग मुकाबले के आखिरी मैच में स्वीडन के खिलाफ उन्होंने चार गोल किए. लिस्बन के अखबार आ बोला ने लिखा, "यह समझना बहुत आसान है कि अगर रोनाल्डो नहीं होता तो हम क्वालिफाई नहीं कर पाते. स्वीडन के खिलाफ वही निर्णायक था. दोनों टीमों के बीच सबसे बड़ा अंतर वही था."

पुर्तगाल के अंदर रोनाल्डो इतने लोकप्रिय हैं कि सैकड़ों लोग उस म्यूजियम में हर रोज जाते हैं, जो खुद रोनाल्डो ने अपने लिए खोला है. इस बात की अटकलें चल रही थीं कि वह रियाल मैड्रिड से बाहर जाना चाहते हैं और रियाल उनके साथ किसी तरह करार बढ़ाना चाहता है. उनका करार 2015 में पूरा हो रहा था. इस बात की संभावना जताई जा रही थी कि वह एक बार फिर से इंग्लिश प्रीमियर लीग का रुख कर सकते हैं. लेकिन आखिरकार उन्होंने 2018 तक रियाल के साथ करार कर लिया है.

रियाल के प्रेसिडेंट फ्लोरेंटीनो पेरेज ने कहा, "वह हमारा लीडर है, हमारा झंडाबरदार है. वह कई सालों के लिए हमारा सबसे अहम खिलाड़ी है." नए कोच ने रोनाल्डो को ज्यादा जगह और अहमियत दी है. लेकिन अगर रोनाल्डो के काम के नतीजों की जांच होने लगे, तो यहां मामला फंस सकता है. 2013 में रोनाल्डो की टीम को कोई भी ट्रॉफी नहीं मिल पाई. फिर भी खुद रोनाल्डो को बहुत भरोसा है, "क्या मैं इस साल बैलोन डॉर जीतने का हक रखता हूं? शायद हां, जैसे कि पिछले साल या दो साल पहले. मैं हमेशा सोचता हूं कि मैं इसका हक रखता हूं. मैं तो इसे हर बार जीतना चाहता हूं लेकिन मुझे पता है कि ऐसा नहीं हो सकता है."

एजेए/एमजे (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री