मेक्सिको में एक महीने में आये दूसरे बड़े भूकंप से कांपी जिंदगी | दुनिया | DW | 20.09.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मेक्सिको में एक महीने में आये दूसरे बड़े भूकंप से कांपी जिंदगी

पुलिस, अग्निशमन दल और मेक्सिकन जनता लगातार भूकंप से धराशायी हुई इमारतों के नीचे दबे लोगों को निकालने में जुटी है. रिक्टर स्केल पर 7.1 तीव्रता के भूकंप में अब तक दो सौ से भी अधिक लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो चुकी है.

एक ही महीने में दूसरी बार आये एक और बड़े भूकंप ने मेक्सिको के जनजीवन को हिला कर रख दिया है. मरने वाले दो सौ से भी अधिक लोगों में 20 से ज्यादा बच्चे बताये जा रहे हैं. मेक्सिको की सिविल डिफेंस एजेंसी ने पहले मरने वालों की संख्या को 248 बताया था लेकिन फिर उसे कम कर अब तक 216 मृतकों की पुष्टि की है. सीस्मोलॉजी एजेंसी का कहना है कि भूकंप का केंद्र मेक्सिको सिटी से 120 किलोमीटर दूर एक्सोचियापन में था.

इस भूकंप ने 1985 में ठीक इससे एक दिन पहले आये ऐतिहासिक भूकंप की यादें ताजा कर दीं. उस आपदा की 32वीं वर्षगांठ पर मेक्सिको के लोगों ने भूकंप की चपेट में आने वाले 10,000 से अधिक मृतकों को याद किया था और भूकंप की विशेष ड्रल में हिस्सा लिया था.

बचावकर्मी, अग्निशमन दल के सदस्य और स्वेच्छा से बचाव कार्य में लोग लगे हुए हैं. बचाव दल मलबे के नीचे दबे लोगों की तलाश में प्रशिक्षित कुत्तों की भी मदद से ले रहे हैं. मेक्सिको के राष्ट्रपति एनरिके पेना नीतो ने भी घटनास्थल का दौरा किया. उसके बाद एक वीडियो संदेश जारी कर उन्होंने स्थानीय लोगों से शांति और संयम बनाये रखने की अपील की. इसके अलावा राष्ट्रपति नीतो ने बताया कि प्रशासन प्रभावित स्थल पर और मदद भेज रहा है. नीतो ने कहा, "इस समय वरीयता अभी भी फंसे हुए लोगों को बचाये जाने और घायलों को मेडिकल सुविधा उपलब्ध कराने को दी जा रही है."

मेक्सिको सिटी के करीब 40 फीसदी और पास के मोरेलोस शहर के 60 फीसदी हिस्से में बिजली भी कटी हुई है. मेक्सिको सिटी के मेयर मिगेल मानसेरा ने बताया है कि करीब 44 अलग अलग जगहों से कई इमारतों के ढहने की खबर है. अब तक हुई मृतकों की संख्या की पुष्टि में से आधे से अधिक लोग केवल मेक्सिको सिटी के ही हैं. मेक्सिको की राजधानी में ज्यादातर इमारतें जिस धरातल पर बनी है, वहां पहले झीलें हुआ करती थीं. इस तरह की धरती में सैकड़ों मील दूर के केंद्र वाले भूकंप का असर भी कई गुना बढ़ जाता है. इसी महीने मेक्सिको के दक्षिणी तट पर 8.1 तीव्रता वाला भूकंप आया था, जिसके जोरदार कंपन भी राजधानी मेक्सिको सिटी में महसूस किये गये थे.

आरपी/एनआर (एपी, डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री