1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मुस्लिम निशानेबाज को लेकर विवाद

जर्मनी में निशानेबाजी की पुरानी परंपरा है लेकिन आम तौर पर पारंपरिक जर्मन निशानेबाज कैथोलिक होते हैं. पहली बार जब एक मुस्लिम निशानेबाज चैंपियन बना तो विवाद हो गया कि क्या वह कैथोलिक निशानेबाज संगठन का सदस्य हो सकता है.

क्या खेल प्रतियोगिताओं में धर्म की कोई भूमिका हो सकती है? ऐसा ही एक मामला उठ खड़ा हुआ जब पश्चिम जर्मन कस्बे वैर्ल में जन्मे मुस्लिम मिथट गेदिक निशानेबाजी चैंपियन सम्राट चुने गए. लेकिन जर्मन ऐतिहासिक निशानेबाज संगठनों के संघ बीएचडीएस को यह मंजूर नहीं था. उसने पहले तो गेदिक से इस्तीफे की मांग की लेकिन देश भर में भारी विरोध के बाद उसने यह फैसला किया है कि गेदिक चैंपियन बने रह सकते हैं. संघ का कहना है कि वह गेदिक का सम्मान करता है और जर्मनी में दूसरे समुदायों के घुलने मिलने को प्रोत्साहन देना चाहता है. लेकिन वे इलाके की निशानेबाज चैंपियनशिप में हिस्सा नहीं ले सकते. 33 वर्षीय गेदिक की शादी एक कैथोलिक महिला से हुई है और उनके बच्चे भी कैथोलिक हैं.

संघ के लिए यह फैसला मुश्किल था. बीएचडीएस के प्रवक्ता ने बताया, "बैठक में हमने तय किया है कि इस सिलसिले में ऐसे और फैसले नहीं लिए जाएंगे और हम केवल ईसाइयों को संगठन में शामिल करेंगे." गेदिक को गलती से शामिल किया गया. अब वह सिर्फ एक साल के लिए निशानेबाजी चैंपियन रह सकता है.

गेदिक का कहना है कि वह इस फैसले से खुश हैं, "मैं लेकिन उम्मीद करता हूं कि हमने एक संकेत दिया है और बाकी निशानेबाज संघ भी यह सवाल पूछें कि इस तरह के नियम क्या आज के युग में भी मायने रखते हैं." गेदिक को दुख है कि 21वीं शताब्दी में भी इस तरह के नियम हैं. गेदिक के निशानेबाज संघ के प्रमुख ओलाफ श्मित्स कहते हैं कि वह बस निशानेबाजी महोत्सव मनाना चाह रहे थे लेकिन मुख्य जर्मन संघ ने उनके संगठन को निकालने की धमकी दी.

जर्मन राज्य नॉर्थराइन वेस्टफेलिया के गुंट्राम श्नाइडर ने फैसले की आलोचना की है, "कैथोलिक निशानेबाज संघों को अपने संविधानों के मूल्यों पर जोर देना चाहिए, न कि धर्म पर." जर्मनी में नॉर्थराइन वेस्टफेलिया और बवेरिया में सबसे ज्यादा निशानेबाज हैं. नॉर्थराइन वेस्टफेलिया में इनकी संख्या करीब 10 लाख है और पूरी जर्मनी में करीब चार लाख निशानेबाज संगठन हैं. ज्यादातर इलाके के कैथोलिक चर्च से जुड़े हुए हैं.

एमजी/एजेए (डीपीए)

संबंधित सामग्री