मुशर्रफ का बयान निराधार है: पाकिस्तान | जर्मन चुनाव 2017 | DW | 06.10.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

मुशर्रफ का बयान निराधार है: पाकिस्तान

पाकिस्तान ने पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के उस बयान को सिरे से खारिज कर दिया है जिसमें उन्होंने स्वीकार किया है कि पाक ने कश्मीरी उग्रवादियों को ट्रेनिंग दी. मुशर्रफ की ओर से अचानक आए इस बयान से सकते में पाकिस्तान.

default

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने पूर्व राष्ट्रपति के इस बयान को निराधार बताया है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अब्दुल बासित ने बताया, "मैं नहीं जानता कि उन्होंने किस वजह से यह बयान दिया है. वह पाकिस्तान में नहीं हैं और मुझे बिलकुल नहीं पता कि इस बयान को देने की मंशा क्या है. जहां तक पाकिस्तान सरकार का पक्ष है तो हम कड़े शब्दों में इस बेसिरपैर बयान को खारिज करते हैं."

Syed Salahuddin Kaschmir

अब्दुल बासित का कहना है कि पाकिस्तान ने कश्मीरियों के संघर्ष का हमेशा समर्थन किया है और यह समर्थन अंतरराष्ट्रीय कानूनों और संयुक्त राष्ट्र चार्टर के अनुरूप रहा है. इससे पहले पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परेवज मुशर्रफ ने यह कह कर सनसनी फैला दी थी कि पाकिस्तान ने भूमिगत उग्रवादी गुटों को प्रशिक्षण दिया ताकि वे कश्मीर में लड़ सकें.

यह पहली बार है जब पाकिस्तान के किसी बड़े नेता उग्रवादियों को ट्रेनिंग देने की बात स्वीकार की है. हालांकि भारत पाकिस्तान पर ऐसे आरोप लगाता रहा है. जर्मन पत्रिका डेर श्पीगेल को दिए इंटरव्यू में मुशर्रफ ने कहा, "उग्रवादी गुटों को निश्चित तौर पर बनाया गया. पाकिस्तान सरकार ने उन्हें छूट दी क्योंकि वह चाहती थी कि भारत पाकिस्तान के साथ कश्मीर के मुद्दे पर बात करे."

मुशर्रफ के मुताबिक पश्चिमी देश कश्मीर के मुद्दे को नजरअंदाज कर रहे थे जबकि यह पाकिस्तान के लिए सबसे अहम मुद्दा है. परवेज मुशर्रफ की ओर से यह बयान आना इसलिए भी दिलचस्प है क्योंकि कुछ ही दिन पहले उन्होंने राजनीति में फिर से सक्रिय होने की घोषणा की है. लंदन में रह रहे मुशर्रफ ने अपनी एक नई पार्टी का भी पिछले हफ्ते एलान किया जिसका नाम ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: उ भट्टाचार्य

DW.COM

WWW-Links