1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

"मुरली पर चकिंग के आरोप का नस्लवाद से लेना देना नहीं"

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव वॉ ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने वाले श्रीलंका के महान स्पिनर मुथैया मुरलीधरन की खूब तारीफ की है. साथ ही कहा है कि उन पर चकिंग के आरोपों के सिलसिले में नस्लवादी रवैया नहीं अपनाया गया.

default

एक कार्यक्रम के सिलसिले में चंडीगढ़ पहुंचे वॉ ने कहा, "मुरली एक महान खिलाड़ी हैं जिन्होंने किसी से न टूटने वाला 800 विकेट का अद्भुत रिकॉर्ड बनाया है. हम खेल के लिए उनके इस योगदान की सराहना करते हैं. भले ही कुछ लोगों की राय अलग हो, लेकिन आखिरकार उनमें कुछ खास तो है ही. 67 बार उन्होंने खेल में पांच विकेट लिए हैं."

लेकिन ऑस्ट्रेलिया के एंपायरों की तरफ से उठाए गए सवालों के बाद ही मुरलीधरन पर चकिंग के आरोप लगे. जब वॉ से पूछा गया कि क्या ये आरोप नस्लवाद से प्रेरित थे तो उन्होंने कहा, "नस्लवाद को भूल जाइए, यह बात हमेशा उठाई जाती है. यह निश्चित रूप से नस्लवादी बात नहीं थी. हमें इस बात का जश्न मनाना चाहिए कि मुरली ने इतनी सफलता पूर्वक खेला."

ऑस्ट्रेलिया के अंपायर डेरेल हेयर ने 1995-96 में श्रीलंकाई टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे में मुरली को गेंद फेंकने के लिए बुलाया, जिसके बाद उन पर चकिंग के आरोप लगे. पूर्व ऑस्ट्रेलियाई अंपायर रॉस एमरसॉन ने एक बार मुरली की सात गेंदों को नो बॉल करार दिया था.

Steve Waugh, Kapitän der australischen Cricketmannschaft

सचिन की तारीफ में वॉ

वॉ ने कहा कि मुरली और सचिन तेंदुलकर जैसे खिलाड़ी बड़े दुर्लभ होते हैं. सचिन के बारे में उन्होंने कहा कि जिस तरह से मास्टर ब्लास्टर आगे बढ़ रहे हैं, उसे देख कर लगता है कि वह जल्द ही टेस्ट क्रिकेट में अपनी 50वीं सेंचुरी जड़ देंगे.

उन्होंने इंग्लैंड के स्पिनर ग्रेम स्वान और ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर नैथन हॉरित्ज को भी दमदार बताया. उन्होंने भारत के ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह की भी तारीफ की, लेकिन यह भी कहा कि वह अपना शानदार प्रदर्शन जारी नहीं रख पाते.

पाकिस्तान के खिलाफ पिछला टेस्ट हारने के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम और खासकर कप्तान रिकी पोंन्टिंग की आलोचना पर वॉ ने कहा, "ऑस्ट्रेलिया ने लगातार सात टेस्ट मैच जीते हैं. आपको आंकड़े देखने होंगे. इसीलिए बीच बीच में कुछ हारों से कोई फर्क नहीं पड़ता." उन्होंने पोंन्टिंग की तारीफ करते हुए कहा कि वह अच्छा काम कर रहे हैं.

मुरलीधरन ने पिछले हफ्ते भारत के खिलाफ खेले गए मैच में 800 विकेट पूरे करने के बाद टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः आभा एम

DW.COM

WWW-Links