1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मुझे तो बस फंसाया जा रहा हैः मोदी

आईपीएल के पूर्व प्रमुख ललित मोदी का कहना है कि उन्हें तो जबरदस्ती फंसाया जा रहा है. भ्रष्टाचार के आरोपों में पद से हटाए जाने के बाद मोदी ने अपने पहले इंटरव्यू में यह बात कही. साथ ही कहा कि सभी आरोप गलत साबित होंगे.

default

आजकल लंदन में हैं मोदी

आईपीएल को रचने वाले मोदी पर गाज अप्रैल में आईपीएल 3 खत्म होने के बाद ही गिर गई. पिछले महीने ही भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने उनके खिलाफ आईपीएल टूर्नामेंटों के दौरान 4 अरब 68 करोड़ रुपये की हेराफेरी के मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. बीबीसी के पूर्व खेल पत्रकार मिहिर बोस को दिए इंटरव्यू में मोदी ने कहा, "मैंने जो भी किया सब नियमों के मुताबिक किया." यह इंटरव्यू मोदी की वेबसाइट और यूट्यूब पर जारी किया गया है.

भ्रष्टाचार के आरोप लगने के बाद मोदी लंदन चले गए, हालांकि भारतीय अधिकारी उन पर वापसी का दबाव बनाए हुए हैं ताकि पूछताछ की जा सके. मोदी का कहना है, "यह जांच उन लोगों की खुराफात है जो मेरी सफलता से जलते हैं." साथ ही मोदी ने साफ किया कि वह टेलीकांफ्रेंसिंग के जरिए भारतीय जांचकर्ताओं के साथ पूरा सहयोग कर रहे हैं.

मोदी का कहना है कि उन्हें अज्ञात लोगों से जान का खतरा है और खुद को सुरक्षित महसूस करने पर ही वह भारत वापसी के बारे में सोचेंगे. मोदी के मुताबिक उन्होंने एक ऐसा अद्भुत टूर्नामेंट शुरू किया जिसकी वजह से बीसीसीआई दुनिया की सबसे अमीर खेल संस्था बनी है. खास कर टीवी की जरूरत के हिसाब से तैयार किया गए आईपीएल टूर्नामेंट को क्रिकेटेंमेंट का भी नाम दिया गया जो क्रिकेट प्रेमी भारतीयों का भरपूर मनोरंजन करता है. साथ ही विज्ञापनों के जरिए आयोजकों को तगड़ी कमाई होती है.

मोदी का कहना है, "मैं आपको बहुत ही साफ तरीके से बता सकता हूं कि आईपीएल का कोई पैसा मेरी जेब में नहीं गया." उन्होंने आईपीएल टीमों के लिए होने वाली बोली में धांधली के आरोपों से भी इनकार किया है. वह इसे एक खुली प्रक्रिया बताते हैं.

आईपीएल में भारत के सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अंबानी और बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान जैसे लोगों की टीमें भी हैं. मोदी बताते हैं, "जब मैंने लीग की रूपरेखा तैयार की तो सबको लगता था कि यह चलने वाला नहीं है. कोई भी इसमें पैसा नहीं लगाना चाहता था. इसे आगे बढ़ाने का यही इकलौता रास्ता था कि मैं अपने परिवार और दोस्तों की मदद लेता. अब जब यह इतना लोकप्रिय हो गया है तो सब कह रहे हैं कि अपने परिवार और दोस्तों को आपने सब कुछ दिया. ये सारे लोग उस वक्त कहां थे जब हम लीग शुरू कर रहे थे."

मोदी ने इन खबरों को भी गलत बताया कि उन्होने बीसीसीआई के पैसे को अपने ऐशो आराम पर पानी की तरह बहाया है. वह अपना संबंध एक अमीर परिवार से बताते हैं. मोदी को यकीन है कि उन पर लगे आरोप गलत साबित होंगे.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links