1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मुजफ्फरनगर दंगों के लिए बीजेपी-एसपी जिम्मेदार

अगस्त 2013 में उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में हुए दंगों पर एक-सदस्यीय जांच आयोग ने अपनी रिपोर्ट राज्यपाल को सौंप दी है. आयोग ने दंगे भड़काने के लिए बीजेपी और समाजवादी पार्टी के स्थानीय नेताओं को जिम्मेदार माना है.

भारतीय मीडिया के अनुसार इलाहाबाद हाईकोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस विष्णु सहाय के नेतृत्व में गठित जांच आयोग ने राज्यपाल राम नाइक को अपनी न्यायिक जांच रिपोर्ट सौंपी. रिपोर्ट में दंगा भड़काने के लिए बीजेपी और राज्य में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के स्थानीय नेताओं को जिम्मेदार बताया गया है.

अगस्त 2013 में हुए दंगों में 60 से अधिक लोगों के मारे जाने, कईयों के लापता होने और महिलाओं से बलात्कार की शिकायतें आई. इसके अलावा करीब पचास हजार लोग दंगों के कारण बेघर हो गए थे, जिन्होंने राहत शिविरों में शरण ली.

जांच आयोग की रिपोर्ट के बारे में अब तक कोई अधिकृत सूचना नहीं दी गई है. सहाय आयोग ने 775 पेज की अपनी रिपोर्ट में कहा है कि चूकों और लापरवाहियों के कारण दंगे की स्थिति बनी और हिंसा हुई. आयोग के मुताबिक, दोनों दलों के नेताओं के कारण ना केवल मुजफ्फरनगर, बल्कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 5 जिलों में हिंसा भड़क उठी थी. दंगों में करीब 8000 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया था, जिनमें डेढ़ दर्जन नेता थे.

राज्यपाल राम नाइक अब इस जांच रिपोर्ट को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पास आगे की कार्रवाई के लिए भेजेंगे. ट्विटर पर अपने संदेशों में कुछ लोग लिखते हैं कि उन्हें फिक्र है कि आगे इस रिपोर्ट को कितना महत्व मिलेगा.

मार्च 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने मुजफ्फरनगर दंगों के लिए उत्तर प्रदेश सरकार को लापरवाही बरतने का जिम्मेदार माना था. मुजफ्फरनगर दंगों की वजह से समाजवादी पार्टी के प्रति मुस्लिमों में जबरदस्त नाराजगी देखी गई थी लेकिन उत्तर प्रदेश के चुनाव आते आते मोदी का मुद्दा पूरे चुनावी अभियान के केंद्र में आ चुका था.

पीड़ितों में ज्यादातर मुसलमान थे और कई मुस्लिम नेताओं ने दंगों के बाद मुहैया कराई गई राहत पर सवाल खड़े किए थे. मुख्यमंत्री समेत समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता दंगा पीड़ितों को पहुंचाई गई तेज और पर्याप्त राहत का दावा किया. इन दंगों पर एक विवादित फिल्म 'मुजफ्फरनगर बाकी है' भी बन चुकी है जिसके सार्वजनिक प्रदर्शन पर रोक है.

अब मुजफ्फरनगर दंगों पर ही आधारित एक नई बॉलीवुड फिल्म के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस पार्टी के नेता कपिल सिबल ने कुछ गीत लिखे हैं. 'जैनब' नाम की यह फिल्म एक राजनीतिक व्यंग्य है. सिबल ने कहा, "निर्माताओं को आजकल आइटम गाने चाहिए होते हैं इसलिए मैंने भी इस फिल्म के लिए एक ऐसा गाना लिखा है. जागरूकता और सामाजिक संदेशों को फैलाने के लिए सिनेमा सबसे प्रभावी माध्यम है. मैं भी इस फिल्म के जरिए खुशी, मानवता और सौहार्द्र का ही संदेश देना चाहता हूं."

DW.COM

संबंधित सामग्री