1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मुंह छिपाते खिलाड़ी पहुंचे पाकिस्तान

पाकिस्तान के नाराज लोगों के बीच मैच फिक्सिंग के तीनों आरोपी क्रिकेटर देश लौट गए और छिपते छिपाते एयरपोर्ट से बाहर निकले. नाराज क्रिकेट प्रेमियों ने लाहौर में उनके खिलाफ जबरदस्त नारे लगाए और जूते दिखा दिखा कर विरोध किया.

default

पाकिस्तान क्रिकेट के टेस्ट कप्तान सलमान बट, तेज गेंदबाज मोहम्मद आमेर और मोहम्मद आसिफ कुवैत एयरलाइंस के विमान से तड़के साढ़े चार बजे लाहौर पहुंचे. उनके परिवार वाले चाहते थे कि ईद के मौके पर वे उनके साथ रहें. लेकिन एयरपोर्ट पर क्रिकेट प्रेमियों का जमावड़ा भी लग चुका था. सैकड़ों लोग वहां जमा हो चुके थे और उनके हाथों में तीनों क्रिकेटरों के खिलाफ नारे लिखी हुई पट्टियां थीं.

Pakistan Cricket Manipulation

गुस्साए और नाराज पाकिस्तानी क्रिकेट समर्थकों के हाथों में जूते भी दिख रहे थे, जिसे हिला हिला कर वे अपना विरोध प्रकट कर रहे थे. अधिकारियों ने मैच फिक्सिंग के आरोपी खिलाड़ियों को जनता के सामने नहीं जाने दिया और उनके चुपचाप पिछले दरवाजे से निकाल दिया गया. एयरपोर्ट के एक अधिकारी ने बताया, "किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए हमने तीनों खिलाड़ियों को कड़ी सुरक्षा के बीच कार्गो गेट से बाहर निकाल दिया और उन्हें घर भेज दिया गया है."

इन तीनों खिलाड़ियों पर इंग्लैंड के ओवल टेस्ट में फिक्सिंग करने का आरोप है. ब्रिटेन के एक अखबार ने अपने स्टिंग ऑपरेशन में दिखाया है कि किस तरह पैसे लेकर नो बॉल डालने की सौदेबाजी होती है और मैदान पर वैसा ही होता है, जैसा सौदेबाजी में तय किया जाता है. इस मामले में स्कॉटलैंड यार्ड तीनों आरोपी क्रिकेटरों से पूछताछ कर रही है. लेकिन उन पर अभी आरोप साबित नहीं हुआ है और इसी वजह से उन्हें घर जाने की अनुमति मिल गई है. लेकिन आईसीसी ने इन तीनों को सस्पेंड कर दिया है.

अब इस मामले में नया मोड़ आ गया है, जब पता चला है कि पाकिस्तान के एक और तेज गेंदबाज वहाब रियाज से भी स्कॉटलैंड यार्ड पूछताछ करेगी. उन्हें लंदन में ही रुकने को कहा गया है. बाकी की टीम इंग्लैंड के खिलाफ खेल रही है. मैच फिक्सिंग कांड सामने आने के बाद से पाकिस्तान अपने सारे मैच हार चुका है. फिक्सिंग के आरोपों के बीच ओवल टेस्ट तो वह हार ही गया, उसके बाद दो ट्वेन्टी 20 और एक वनडे मैच भी वह इंग्लैंड के हाथों गंवा चुका है.

इस बीच, पाकिस्तान के गृह मंत्री रहमान मलिक ने बताया है कि आरोपी खिलाड़ी अपने परिवार के साथ ईद मनाने के लिए घर लौटे हैं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड और उनके परिवार वाले ऐसा चाहते थे. हालांकि मलिक ने साफ किया कि इंग्लैंड में जांच चल रही है और तीनों खिलाड़ी पूछताछ के लिए वहां फिर जा सकते हैं.

रिपोर्टः एएफपी/ए जमाल

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links