1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

मुंबई हमलों में शामिल लोगों को भारत के हवाले नहीं करेगा पाक

चीन दौरे पर गए पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली ज़रदारी ने साफ कर दिया है कि मुंबई हमले की साजिश में शामिल लोगों को भारत के हवाले नहीं किया जाएगा. अगर मुमकिन हुआ तो इन लोगों को पाकिस्तान में ही सज़ा दी जाएगी.

default

एक बार फिर पाकिस्तान ने अपना वही पुराना राग दोहराया है. जरदारी का कहना है कि भारत-पाकिस्तान के बीच शांतिवार्ता को पटरी से उतारने के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी. चीन दौरा खत्म करने से ठीक पहले मीडिया से बातचीत में जरदारी ने ये साफ कर दिया कि कार्रवाई का मतलब मुंबई हमले को दोषियों को भारत के हवाले करना नहीं है. इसके पीछे जरदारी की दलील है कि दोनों देशों के बीच प्रत्यर्पण संधि नहीं होने की वजह से ऐसा करना संभव नहीं है. जरदारी की मानें तो इन लोगों के खिलाफ पाकिस्तान में ही मुकदमा चलेगा और उन्हें सज़ा दी जाएगी.

Ajmal Amir Kasab Mumbai

नए वारंट जारी

भारत के मजबूत लोकतंत्र की दुहाई देते हुए जरदारी ने भरोसा जताया है कि भारत कुछ लोगों के नापाक मंसूबों को कामयाब नही होने देगा और शांतिवार्ता को फिर से शुरू करने के लिए राजी हो जाएगा. जरदारी ने याद दिलाया है कि मुंबई पर हमले के वक्त पाकिस्तान के विदेशमंत्री दिल्ली में ही थे और भारत के साथ एक समझौते पर दस्तखत करने वाले थे.

जरदारी का कहना है कि अचानक हुए हमलों ने दोनों देशों के सुधरते रिश्तों को एक बार फिर बिगाड़ दिया. जरदारी ने कहा कि दोनों मुल्कों के रिश्ते एक बार फिर बेहतरी की तरफ बढ़ रहे है और जल्दी ही इसमें सुधार होने की उम्मीद है. जरदारी ने ये भी कहा कि भारत एक पुराना लोकतंत्र है और पाकिस्तान उसके मुकाबले नया इसलिए भारत को ज्यादा समझदारी से काम लेना चाहिए. हालांकि जरदारी ने इस दौरान अफगानिस्तान में भारत की बड़ी भूमिका पर पूछे गए सवाल का जवाब देने से इंकार कर दिया. 

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः आभा एम

संबंधित सामग्री