1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

मुंबई पहुंचे ओबामा

चुनाव में डेमोक्रैटिक पार्टी की हार और अमेरिकी अर्थव्यवस्था को गति देने की उम्मीदों का बोझ लिए राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मुंबई की धरती पर रखे अपने कदम, पत्नी मिशेल के साथ ताज होटल पहुंचे. कुछ ही देर में पहला कार्यक्रम.

default

ठीक 12 बज कर 50 मिनट पर अमेरिकी राष्ट्रपति के उड़ते महल एयरफोर्स वन ने मुंबई की धरती को चूमा और कुछ ही पलों बाद अमेरिका के प्रथम दंपति मुस्कुराते हाथ हिलाते गेट से बाहर उतरे. लाल कालीन बिछी सीढ़ियों पर सधे कदम रखते राष्ट्रपति बराक और मिशेल जब नीचे पहुंचे तो देखा केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण और तमाम बड़े अधिकारी उनका स्वागत करने के लिए वहां मौजूद थे. अभी सलमान ओबामा की तरफ हाथ बढ़ाते कि उत्साह से भरे मुख्यमंत्री ने प्रोटोकॉल तोड़कर ओबमा से हाथ मिला लिया और भारत में उनका पहला स्वागत करने के बाद इस मुलाकात की यादगार के रूप में एक किताब भी भेंट कर दी. शायद मुख्यमंत्री भूल गए कि प्रोटोकॉल के तकाजे से आज पहले सलमान खुर्शीद को राष्ट्रपति से मिलना था और तब वे बाकी लोगों को राष्ट्रपति से मिलवाते.

ओबामा का स्वागत करने वालों में भारत में अमेरिकी राजदूत टिमोथी रोमर भी थे. उन्हें देखते ही राष्ट्रपति के होठों पर एक खास मुस्कान खिली और उन्होंने बड़ी गर्मजोशी से हाथ मिलाया, फिर उनका हालचाल पूछा और कुछ दूसरी बातें की. बहरहाल यहां सारे लोगों से मिलने के बाद राष्ट्रपति और मिशेल अपनी गाड़ियों के काफिले की ओर मुड़े. यहां से ये कारवां ताज होटल की तरफ चल पड़ा जहां राष्ट्रपति के रुकने का इंतजाम किया गया है. आतंक की आग झेल चुके इस होटल के हेरिटेज विंग में रुक कर ओबामा आतंकवादियों को कड़ा संदेश देना चाहते हैं. यहीं उनका पहला कार्यक्रम भी हो रहा है. राष्ट्रपति मुंबई हमले के पीड़ितों से मुलाकात करेंगे और भारत में अपना पहला भाषण देंगे. राष्ट्रपति के कार्यक्रम में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री समेत राज्य के आला अधिकारी भी शामिल होंगे.

भारत आने वाले कुल छठे और पिछले 10 सालों में तीसरे राष्ट्रपति बराक ओबामा आज ही दोपहर बाद गांधी म्यूजियम देखने मणि भवन जाएंगे. शाम को उनकी होटल ओबेरॉय में कारोबारियों से मुलाकात होगी. यहीं पर भारत अमेरिका व्यापार संघ का सम्मेलन भी होना है. ओबामा की ये यात्रा राजनीतिक कम और आर्थिक ज्यादा है. उन्हें भारत में कारोबार के विस्तार की संभावनाएं तलाशनी है और अमेरिकी अर्थव्यवस्था को भारत के कंधे पर बिठा कर वहां तक पहुंचाना है जहां होने का सपना अमेरिकी जनता की आंखों में है. राष्ट्रपति के साथ अमेरिकी कारोबार जगत से जुड़े 200 लोग भी आए हैं.

आज मुंबई में रहने के बाद कल ओबामा दिल्ली के लिए रवाना होंगे जहां उनकी भारतीय राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और दूसरे लोगों से मुलाकात होगी.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः महेश झा

DW.COM

संबंधित सामग्री