1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

मिस्र और नाइजीरिया में धमाके, 11 की मौत

नाइजीरिया और मिस्र में नए साल की शुरुआत धमाकों से हुई है. नाइजीरिया की राजधानी अबुजा में नव वर्ष की पूर्व संध्या पर बाजार में धमाके में चार लोग मारे गए तो मिस्र के अलेक्जेंद्रिया शहर में चर्च पर हमले में सात जानें गईं.

default

मिस्र के गृह मंत्रालय ने बताया कि उत्तरी अलेक्जेंद्रिया शहर में एक चर्च पर हुए कार बम धमाके में सात लोग मारे गए हैं और 24 घायल हो गए. शहर के सिदी बेख्र इलाके में यह धमाका उस वक्त हुआ जब लोग नए साल के मौके पर मध्यरात्रि के बाद चर्च से निकल रहे थे. एक चश्मदीद ने बताया कि चर्च के गेट के पास एक झुलसी कार पड़ी थी.

मंत्रालय के बयान में कहा गया है, "शुरुआती जांच से संकेत मिलता है कि इस धमाके को कार बम के जरिए अंजाम दिया गया. यह कार चर्च के सामने खड़ी थी और ऐसे व्यक्ति की बताई जा रही है जो अकसर चर्च आता है." घायलों में आठ मुसलमान भी बताए जा रहे हैं.

एएफपी ने खबर दी है कि धमाके के बाद बहुत से ईसाई पास की मस्जिद के पास विरोध जताने के लिए जमा हुए. यह अभी साफ नहीं है कि इस धमाके के लिए कौन जिम्मेदार है. लेकिन खुद को इराक का अल कायदा बताने वाला एक गुट मिस्र के कोप्टिक ईसाइयों पर हमलों की धमकियां देता रहा है.

उधर, नाइजीरिया की राजधानी अबुजा में नव वर्ष की पूर्व संध्या पर हुए धमाके में चार लोग मारे गए हैं. धमाका एक बाजार में हुआ जो सेना के बैरेक्स के पास है. कट्टरपंथी गुट बोको हराम को धमाके के लिए जिम्मेदार समझा जा रहा है. नाइजीरिया के सेना प्रमुख ओलुसेई पेटिनरिन ने कहा, "यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. इसमें बहुत सी जानें गई हैं. यह धमाका ऐसी जगह पर हुआ जहां लोग बैरेक्स में आराम कर रहे थे."

पुलिस प्रवक्ता मोशूद जिमोह ने बताया, "चार लोग मारे गए हैं और कम से कम 13 घायल हुए हैं. घटनास्थल को सील कर दिया गया है और मामले की जांच शुरू हो गई है."

एक चश्मदीद ने बताया कि वह नए साल के मौके पर होने वाले जश्न में शामिल होने के लिए बाजार की तरफ जा रहा था कि तभी उसने एक धमाके की आवाज सुनी. बाजार में मौजूद एरिक नाम के एक व्यक्ति ने बताया, "लोग इधर उधर भाग रहे थे. दर्जनों लोग पड़े हुए थे जिनमें से कई की मौत हो गई तो कई घायल थे." इस धमाके की वजह अभी साफ नहीं हुई है.

इससे पहले मध्य नाइजीरिया के जोश शहर में 24 दिंसबर को मुसमान और ईसाइयों की झड़प में कम से कम 80 लोग मारे गए. पूरे नाइजीरिया में शरिया कानून को लागू करने की पैरवी करने वाले बोको हराम नाम के एक कट्टरपंथी गुट ने क्रिसमस से पहले हुए धमाके की जिम्मेदारी ली. इस धमाके के बाद शहर में हिंसा फैल गई. पुलिस का कहना है कि पिछले हफ्ते उत्तरी नाइजीरिया में कई जगहों पर हुई गोलीबारी और धमाकों के पीछे बोको हराम का ही हाथ है.

नाइजीरिया के राष्ट्रपति गुडलक जोनाथन ने शुक्रवार के धमाके के लिए बोको हराम को ही जिम्मेदार बताया और सुरक्षा बलों से कहा है कि वे दोषियों को पकड़ने के लिए हर मुमकिन कदम उठाएं. राजधानी अबुजा में अक्टूबर में भी एक कार बम धमाका हुआ था, जिसकी जिम्मेदारी तेल संसाधनों से मालामाल नाइजर डेल्टा में सक्रिय एक विद्रोही गुट ने ली.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एस गौड़

DW.COM