1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मिलीबैंड राग अलापना बंद करोः डेविड

ब्रिटेन के पूर्व विदेश मंत्री डेविड मिलीबैंड ने अपनी पार्टी से कहा कि वे मिलीबैंड बंधुओं की प्रतिस्पर्धा का राग बंद करें. डेविड अपने छोटे भाई एड मिलीबैंड से लेबर पार्टी के अध्यक्ष पद का चुनाव हार गए हैं.

default

डेविड मिलीबैंड ने कहा कि उनकी लेबर पार्टी को दो पूर्व नेताओं टोनी ब्लेयर और गॉर्डन ब्राउन की प्रतिद्वंद्विता से भी बाहर आना चाहिए. हालांकि उन्होंने यह नहीं साफ किया कि क्या वे अपने छोटे भाई के अंडर में काम करेंगे.

David Miliband, und Ed Miliband Labour Party

दो भाइयों की सियासी कहानी

शनिवार को हुए चुनाव में 40 साल के एड मिलीबैंड ने अपने बड़े भाई और अंतरराष्ट्रीय पटल पर जाने माने नाम डेविड मिलीबैंड को आश्चर्यजनक तरीके से पराजित कर दिया. इसके बाद से 45 साल के डेविड मिलीबैंड का राजनीतिक भविष्य अधर में लटका हुआ है. एड मिलीबैंड ब्राउन के समर्थक हैं, जबकि उनके बड़े भाई टोनी ब्लेयर के खेमे के माने जाते हैं. ब्लेयर और ब्राउन मिल कर 13 साल तक ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद पर रहे. लेकिन इस साल मई में उन्हें हार का सामना करना पड़ा.

ब्रिटेन के मैनचेस्टर शहर में डेविड मिलीबैंड ने कहा कि सिर्फ एकीकृत लेबर पार्टी ही मौजूदा प्रधानमंत्री डेविड कैमरन की कंजर्वेटिव लिबरल गठबंधन सरकार को हटा सकती है. उन्होंने कहा, "कोई और बहस नहीं. कोई और चर्चा नहीं. कोई और सोप ओपेरा करने की जरूरत नहीं क्योंकि सिर्फ एकीकृत लेबर पार्टी ही बंटी हुई सरकार से निपट सकती है."

Ed Miliband

एड मिलिबैंड ने जीता चुनाव

उन्होंने कहा, "हमारे पास एक महान नया नेता है और हमें उसके साथ चलना है. इसके अलावा मैं अपने भाई को लेकर बेहद गौरवान्वित महसूस करता हूं. वह मेरे लिए एक खास इंसान है. अब वह आपके लिए भी खास व्यक्ति है और हमारा काम है कि हम उसे पूरे ब्रिटेन के लिए एक खास व्यक्ति बना दें."

डेविड मिलीबैंड को उम्मीद थी कि वह मंगलवार को पार्टी के अध्यक्ष की हैसियत से भाषण देंगे. लेकिन छोटे भाई एड ने उनकी तमन्नाओं पर पानी फेर दिया. उन्होंने विदेश मामलों के प्रभारी के तौर पर भाषण दिया और इसके बाद अपने भाई को गले लगा लिया. इस मौके पर वहां मौजूद लेबर पार्टी के सदस्यों ने खड़े होकर उनका स्वागत किया.

हालांकि इसके बाद भी डेविड मिलीबैंड ने यह साफ नहीं किया कि क्या वह अपने छोटे भाई के अधीन काम करेंगे और क्या वे शैडो सरकार में कोई पद लेंगे. इंग्लैंड में विपक्षी पार्टियां आम तौर पर सरकार के समांतर अपनी कैबिनेट तैयार करते हैं और हर विभाग का अध्यक्ष उस विभाग का शैडो मंत्री कहलाता है.

पूरे कांफ्रेंस में मिलीबैंड बंधुओं की ही चर्चा होती रही और लोग इस बात पर कयास लगाते रहे कि दो मिलीबैंड नेताओं के बीच लेबर पार्टी किस तरफ जाएगी. कई लोगों ने डेविड मिलीबैंड के उस बयान की तारीफ की, जिसमें उन्होंने ब्लेयर और ब्राउन की प्रतिद्वंद्विता को परे हटाने की बात कही.

शनिवार के चुनाव में एड ने बेहद कम अंतर से अपने बड़े भाई डेविड को पराजित किया. उनकी जीत में यूनियन नेताओं का खासा सहयोग रहा. ब्रिटेन की सत्ताधारी कंजर्वेटिव पार्टी अब उन्हें यूनियन की कठपुतली भी बताने पर आमादा है. लेकिन एड को मंगलवार को पार्टी बैठक में अध्यक्ष के तौर पर पहला भाषण देना है. इसके बाद ही साफ हो पाएगा कि डेविड मिलीबैंड उनके अधीन काम करेंगे या नहीं.

रिपोर्टः एएफपी/ए जमाल

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links