1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

मिर्च के लिए परिपक्व हैं भारतीय दर्शक

महिलाओं की यौन इच्छाओं से जुड़े विषयों पर बनी फिल्में देखने के लिए भारतीय लोगों का दिमाग पर्याप्त रूप से विकसित हो चुका है. अभिनेत्री कोंकना सेन यही मानती हैं उनकी आने वाली फिल्म मिर्च भी इसी तरह की है.

default

वैसे मिर्च में हंसी मजाक है और ये सेक्स या महिलाओं पर बनी किसी गंभीर फिल्म जैसी नहीं है. कोंकना मानती हैं कि भारतीय सिनेमा के दर्शक काफी परिपक्व हैं और वो अच्छे विषय और थीम की तारीफ करने में पीछे नहीं रहते. शुक्रवार को समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत में कोंकना ने बताया कि विनय शुक्ला के निर्देशन में बनी मिर्च में चार कहानियां अलग अलग चलती हैं और इन्हें जोड़ने के लिए एक पांचवी कहानी भी है.

Konkona Sen Sharma

शुक्रवार को ही 31 साल की हुई कोंकना ने कहा, " मैंने फिल्म की दो कहानियों में मुख्य भूमिका निभाई है जबकि बाकी दो में राइमा सेन हैं. पांचवी कहानी में अरुणोदय सिंह और शहाना गोस्वामी की जोड़ी है. इस कहानी में अरुणोदय एक संघर्ष करते फिल्मकार बने हैं." कोंकना ने बताया कि चारो कहानियां बिल्कुल अलग हैं और एक दूसरे से कहीं भी जुड़ी हुई नहीं हैं. मिर्च एक नए फिल्मकार का संघर्ष है जिसकी स्क्रिप्ट प्रोड्यूसर बार बार छांट देते हैं. इस फिल्मकार से कहा जाता है कि वो सेक्स जैसे बोल्ड विषय पर स्क्रिप्ट लिखे. इसके बाद ये फिल्मकार चार स्क्रिप्ट लिखता है इन्हीं चारो कहानियों से मिलकर ये फिल्म बनी है.

फिल्म में बमन इरानी और इला अरुण के साथ काम करके कोंकना को खूब मजा आया. मि. एंड मिसेज अय्यर, पेज 3, ट्रैफिक सिग्नल, लाइफ इन ए मेट्रो जैसी अर्थपूर्ण फिल्मों में काम करने के बाद पूरी तरह से व्यावसायिक लागा चुनरी में दाग जैसी फिल्मों में वो जान बूझ कर नहीं आईं. कोंकना ने कहा, "मैंने प्रदीप सरकार की परिणीता देखी है और मुझे उनका काम पसंद आया. मैं उनके साथ काम करना चाहती हूं. फिल्मकार भी नए नए कलाकारों के साथ प्रयोग करना चाहते हैं लेकिन दुर्भाग्य से ऐसी फिल्में ज्यादा नहीं चलतीं."

कोंकना की अगली बांग्ला फिल्म इती मृणालिनी अगले साल रिलीज होगी. ये फिल्म एक अभिनेत्री के जीवन पर है जो कभी बांग्ला फिल्मों की स्टार रही थीं.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः महेश झा

DW.COM