1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मिठाई नहीं लेंगे सिर्फ बात करेंगे भारत-पाक

अगस्त अंत में नई दिल्ली में भारत और पाकिस्तान की महत्वपूर्ण सुरक्षा बैठक में पाकिस्तान के विदेश नीति प्रमुख हिस्सा लेंगे. बातचीत बहाल होने की पुष्टि के बावजूद सीमा पर स्वाधीनता दिवस की मिठाईयों का आदान प्रदान नहीं होगा.

पाकिस्तान के विदेश नीति प्रमुख सरताज अजीज 23 अगस्त को भारत पहुंचेंगे. नई दिल्ली में सुरक्षा वार्ता में हिस्सा लेने का कदम पड़ोसी देश भारत के साथ फिर से बातचीत बहाल करने की दिशा में पहला महत्वपूर्ण कदम होगा. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेशी मामलों के सलाहकार सरताज अजीज ने खुद एक प्रेस कांफ्रेंस में इसकी पुष्टि की है. भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शरीफ जुलाई में रूस में एक सम्मेलन के दौरान मिले थे और द्विपक्षीय वार्ता को आगे बढ़ाने पर सहमत हुए थे. हालांकि उस मुलाकात के बाद से अब तक भारत में कई आतंकी हमलों और पाकिस्तान के साथ सीमा झड़पों के कारण माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है.

गुरुवार सुबह भारतीय कश्मीर में एक मस्जिद परिसर में हुए विस्फोट में कम से कम नौ लोग घायल हुए. पुलिस अधिकारी सईद जावेद मुजतबा गिलानी ने बताया कि श्रीनगर से करीब 60 किलोमीटर दक्षिण में स्थित ट्रेंज शहर में यह हादसा हुआ. अब तक इस बम विस्फोट की जिम्मेदारी किसी ने नहीं ली है. गुरुवार सुबह ही पुलिस ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के एक कमांडर के घर के बाहर पाए गए एक ऐसे ही विस्फोटक उपकरण को नष्ट किया.

बीते कुछ हफ्तों में लगातार हो रही हिंसा की वारदातों को भारत विरोधी उग्रवादियों से जोड़ कर देखा जा रहा है. मस्जिद में हुआ हमला इस मामले में अलग है कि अब तक मुसलमानों के पूजास्थल को बहुत कम ही निशाना बनाया गया है. कश्मीर की भारत से आजादी या उसके पाकिस्तान में विलय की मांग को लेकर कुछ उग्रवादी गुट 1989 से ही लड़ रहे हैं. कश्मीर के पश्चिमी हिस्से पर पाकिस्तान का नियंत्रण है.

बुधवार रात को दो हमले हुए. ट्रेंज में उग्रवादियों ने भारतीय सेना के एक सिपाही को घायल किया जो कि अन्य सिपाहियों के साथ एक कार में एक ग्रामीण इलाके का दौरा कर रहा था. श्रीनगर में उग्रवादियों ने एक पुलिस स्टेशन के सामने सरकारी सुरक्षा बलों पर ग्रेनेड फेंका. इसमें कम से कम तीन पुलिसकर्मियों और एक पैरामिलिट्री सैनिक के घायल होने की खबर है. दोनों देशों के बीच 2003 से बॉर्डर पर संघर्ष विराम के लिए सहमति हुई थी लेकिन इसके बावजूद इसके उल्लघंन की खबरें आती रहती हैं. इस जुलाई तक ही भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सीमाउल्लंघन की कम से कम 19 घटनाएं हो चुकी हैं. इसमें 3 आम लोगों और एक बीएसएफ जवान की मौत हुई और 14 घायल हुए है.

15 अगस्त को भारत के स्वाधीनता दिवस के पहले सरकारी बलों ने ज्यादातर मुस्लिम इलाकों में सुरक्षा पहरे बढ़ा दिए हैं. इस मौके पर कश्मीर में कई जगहों पर भारतीय शासन के विरूद्ध प्रदर्शन भी होते हैं. भारत पाकिस्तान पर आरोप लगाता है कि वह अलगाववादियों को ट्रेनिंग और हथियार देकर भारत भेजता है, जिनका पाकिस्तान ने हमेशा खंडन किया है. 1989 से लेकर अब तक कश्मीर विवाद में 68,000 से भी अधिक लोगों की जान जा चुकी है. भारत और पाकिस्तान के बीच तीन बार युद्ध हो चुका है.

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने एक बयान जारी कर बताया है कि इस बार 14 अगस्त और 15 अगस्त को दोनों देशों के बॉर्डर पर भारतीय सेना और पाकिस्तानी रेंजरों के बीच होने वाला मिठाईयों का आदान प्रदान नहीं होगा. पिछले ही महीने ईद पर पाकिस्तान ने भारत की ओर से पेश की गई मिठाई लेने से मना कर दिया था.

आरआर/एमजे (रॉयटर्स, एपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री