1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

वर्ल्ड कप

मिक्स्ड डबल्स में ज्वाला का जलवा

बैडमिंटन में चीनी खिलाड़ी बेजोड़ है. पर उन्हें टक्कर देती हैं ज्वाला गट्टा. भारत की बेहतरीन डबल्स खिलाड़ी ज्वाला गट्टा का संबंध चीन से है. उनकी मां चीनी मूल की हैं. और ज्वाला के जलवे चीनी खिलाड़ी भी मानते हैं.

default

ज्वाला ने डबल्स मुकाबलों में दुनियाभर में अपनी धाक जमाई है. एकल मुकाबलों में तो भारत में कई विश्व स्तरीय खिलाड़ी हो चुके हैं, लेकिन डबल्स एक ऐसा वर्ग है, जिसमें इस वक्त तो ज्वाला से बेहतर कोई नहीं. 2002 में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलना शुरू किया और तब से ही लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है.

हालांकि किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया क्योंकि वह हर बार फाइनल मुकाबलों तक पहुंच कर रुक जातीं और खिताब उनके हाथ से छिटकता रहा. 2006 में उन्होंने इन हदों को तोड़ा और श्रीलंका इंटरनेशनल टूर्नामेंट में महिला डबल्स का खिताब जीता. 2007 में तो महिला डबल्स में उन्होंने खिताबों की लंबी फेहरिस्त अपने नाम की. इनमें साइप्रस इंटरनेशनल, पाकिस्तान इंटरनेशनल और इंडियन इंटरनेशनल शामिल हैं.

डी वीजू के साथ उनकी जोड़ी ऐसी जमती है कि दोनों साथ मैदान पर होते हैं तो लय में बंधे नजर आते हैं. कोर्ट में दोनों एक से दूसरे कोने तक ऐसी फुर्ती से और तारतम्य के साथ खेलते हैं कि शटल जमीन पर गिरने को तरस जाती है. पिछले साल दोनों मलेशियाई ओपन के फाइनल तक पहुंच गए थे. हालांकि खिताब उनसे कुछ दूर रह गया, लेकिन वहां से वे आत्मविश्वास और उम्मीदों की झोली भर कर लाए हैं.

भारतीय कोच भास्कर मानते हैं कि कॉमनवेल्थ गेम्स में यह झोली काम आएगी. उन्होंने कहा है कि मिक्स्ड डबल्स में भारत सोने की उम्मीद बड़े आराम से कर सकता है. यह विश्वास ज्वाला के जलवे से ही पैदा हुआ है.

DW.COM

WWW-Links