1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

माराडोना के सम्मान में स्मारक

अर्जेंटीना के एक सांसद ने फुटबॉल स्टार और देश की टीम के कोच डिएगो माराडोना के सम्मान में एक स्मारक बनाने का प्रस्ताव रखा है. विश्व कप से टीम के निकलने के बाद भी देश के लोगों के दिलों में माराडोना के लिए खास जगह है.

default

सिगार के शौकीन मैराडोना

खुआन काबांदी ने कहा कि वह माराडोना के सम्मान में स्मारक को समर्थन इसलिए देंगे क्योंकि माराडोना के मामले में नतीजे इतनी अहमियत नहीं रखते. उन्होंने कहा कि माराडोना आम संस्कृति का बड़ा हिस्सा हैं और उनकी ख्याति खेल कूद के जगत से भी कहीं ज्यादा है.

काबांदी ने कहा कि एक मूर्ति से माराडाना के व्यक्तित्व और अपने देश के लिए उनके प्रेम को सम्मानित किया जा सकेगा. माराडोना की एक मूर्ति अर्जेंटीना के बोका जूनियर्स बोंबोनेरा स्टेडियम में है जहां पहली बार उन्होंने अपनी प्रतिभा दिखाई थी.

Diego Maradona Flash-Galerie

जर्मनी से हारने के बाद अर्जेंटीना की टीम बहुत दुखी तो थी लेकिन इसके बावजूद देश में लोगों ने उनका हार्दिक स्वागत किया.

माराडोना हार के बाद बहुत दुखी हैं लेकिन हो सकता है कि टीम को कुछ समय और कोच करते रहें. अर्जेंटीना के फुटबॉल फेडरेशन एफा के प्रमुख खुलियो ग्रोंदोना ने कहा कि माराडोना अर्जेंटीना में एकमात्र व्यक्ति हैं जो अपनी मर्जी से जो करना चाहें, कर सकते हैं.

माराडोना को देश के राजनीतिज्ञों से काफी समर्थन मिल रहा है. हालांकि एक जनमत सर्वेक्षण के मुताबिक देश में आधे से ज्यादा लोगों का मानना है कि टीम की हार माराडोना की वजह से हुई. देश की राष्ट्रपति क्रिस्टीना किर्शनर का कहना है कि माराडोना को रहना चाहिए क्योंकि खेल में हार जीत तो होती रहती है. उधर राजनीति में माराडोना को शामिल करने की खबरें भी फैल रही हैं. सरकार ने इसे पूरी तरह खारिज किया है, लेकिन सोचने वाली बात है कि देश के ज्यादातर कम आमदनी वाले लोग माराडोना को भगवान मानते हैं और माराडोना का साथ सत्तादारी पार्टी के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा, चाहे पार्टी उन्हें चुनावों में खड़ा करे या फिर उनके नाम पर एक स्मारक स्थापित करे.

रिपोर्टः एजेंसियां/ एम गोपालकृष्णन

संपादनः ए जमाल