1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

माइकल ब्राउन की बरसी पर फिर चली गोली

अमेरिका में माइकल ब्राउन की बरसी पर फिर गोली चली है और पुलिस आलोचनाओं में घिरी है. अश्वेत ब्राउन की ठीक एक साल पहले पुलिस की गोली लगने से मौत हुई थी.

18 साल के माइकल ब्राउन पर पुलिस ने उस वक्त हमला किया था, जब वह फर्गुसन की एक दुकान से चोरी कर के भाग रहा था. इसके बाद कई दिनों तक इलाके में पुलिस की बेरहमी के खिलाफ प्रदर्शन होते रहे. रविवार को ब्राउन की बरसी के मौके पर करीब 300 लोग एक बार फिर जमा हुए और पुलिस के नस्लवादी रवैये की ओर प्रशासन का ध्यान दिलाने के लिए रैली निकाली. लेकिन अचानक हुई गोलीबारी के कारण भीड़ में अफरातफरी मच गयी.

इस घटना में पुलिस के चार डिटेक्टिवों ने एक व्यक्ति पर गोली चलाई. पुलिस का कहना है कि व्यक्ति के पास चोरी की बंदूक थी और उसी ने पहले हमला किया. गोली लगने के कारण वह व्यक्ति गंभीर रूप से जख्मी हुआ है और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. सेंट लुइस काउंटी के पुलिस प्रमुख जॉन बेलमर ने पत्रकारों को बताया कि चारों डिटेक्टिव सादे कपड़ों में थे, "आरोपी ने पहले उनकी वैन पर गोली चलाई. जवाब में डिटेक्टिव को भी गोली चलानी पड़ी. चारों ने भाग कर उस व्यक्ति का पीछा किया और इस दौरान और गोलियां चलीं."

समाचार एजेंसी एएफपी द्वारा जारी किए गए एक वीडियो में एक अश्वेत व्यक्ति को मुंह के बल जमीन पर पड़ा हुआ देखा जा सकता है. इस व्यक्ति को हथकड़ियां लगी हुई हैं और काफी खून बह रहा है. लेकिन जॉन बेलमर ने व्यक्ति की नस्ल पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया है. उन्होंने बताया कि इस वारदात में कम से कम 50 गोलियां चलीं और आरोपी की हालत गंभीर है.

उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि यह व्यक्ति कोई प्रदर्शनकारी नहीं, बल्कि "अपराधी" था जिसके साथ निपटने के लिए डिटेक्टिवों की टीम को यह कदम उठाना पड़ा. चारों डिटेक्टिव के पास छह से बारह साल का काम का तजुर्बा है. इन्हें फिलहाल प्रशासनिक छुट्टी पर भेज दिया गया है. बेलमर ने कहा कि कुछ असमाजिक तत्व इलाके में शांति बनी नहीं रहने देना चाहते. हालांकि कुछ रिपोर्टें ऐसी भी हैं कि यह व्यक्ति माइकल ब्राउन का ही एक दोस्त था. इसके अलावा बेलमर ने बताया है कि रविवार को इस तरह का एक और वाकया भी हुआ है.

डिटेक्टिव के साथ गोलीबारी उस समय हुई, जब सेंट लुइस इलाके में लोग माइकल ब्राउन की याद में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे. लोगों ने ब्राउन की याद में साढ़े चार मिनट का मौन रखा. यह उन साढ़े चार घंटों का प्रतीक था, जब मृत ब्राउन का शरीर सेंट लुइस की सड़क पर पड़ा रहा. इस दौरान शांति के प्रतीक दो सफेद कबूतर भी हवा में छोड़े गए. कई लोगों ने "स्टॉप किलिंग ब्लैक चिल्ड्रेन" और "चूज चेंज" के नारों वाली टीशर्ट भी पहन रखी थी. माइकल ब्राउन के पिता ने लोगों का आभार व्यक्त करते हुए कहा, "अगर आप लोग ना होते, तो यह मामला कब का दबा दिया गया होता." इसके अलावा ब्रुकलिन में 100 और न्यूयॉर्क के यूनियन स्क्वायर पर भी बड़ी संख्या में लोगों ने पुलिस के हिंसक रवैये के खिलाफ प्रदर्शन किए. पिछले साल माइकल ब्राउन की मौत के बाद, लोगों में इस बात का भी गुस्सा है कि उसकी जान लेने वाले पुलिसकर्मी को अदालत ने अपराधी नहीं माना.

आईबी/एमजे (एएफपी, डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री