1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

माइकल क्लार्क के बचाव में आए रिकी पोंटिंग

माइकल क्लार्क की कप्तानी मंडराते संकट के बादलों के बीच ऑस्ट्रेलिया के धाकड़ बल्लेबाज़ और टेस्ट कप्तान रिकी पोंटिंग ने क्लार्क की पीठ थपथपाई. पोंटिंग की निगाहें अब एशेज सीरीज़ में इंग्लैंड से हिसाब चुकता करने पर.

default

वर्ल्ड कप में खराब फॉर्म की वजह से ऑस्ट्रेलियाई मीडिया के निशाने पर आए टी-20 कप्तान माइकल क्लार्क को पोंटिंग ने सहारा दिया है. टी-20 वर्ल्ड कप में क्लार्क की कप्तानी की तारीफ़ करते हुए पोंटिंग ने कहा, ''उन्हें अब कुछ अनुभव और पहचान मिल गई. मेरी ग़ैरमौजूदगी में उन्हें कुछ वनडे मैचों की कप्तानी की है. करीब एक डेढ़ साल से वह टी-20 मैचों में कप्तानी कर रहे हैं. मुझे लगता है कि वह शानदार काम कर रहे हैं.''

Micheal Clarke

पोंटिंग के मुताबिक हर खिलाड़ी के जीवन में ख़राब फॉर्म वाला दौर आता है और गुज़र जाता है. क्लार्क का बचाव करते हुए उन्होंने कहा, ''जब भी मैं क्लार्क की कप्तानी देखता हूं तो पता चलता है कि वह बेहतरीन काम कर रहे हैं. ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के भविष्य के लिए यह अच्छा संकेत है.''

दरअसल अपने कट्टर प्रतिद्वंदी इंग्लैंड से वर्ल्ड कप फाइनल में हारने के बाद क्लार्क की कप्तानी पर सवाल उठने लगे हैं. वर्ल्ड कप में मिली हार के बाद चयनकर्ताओं ने कहा कि क्लार्क की कप्तानी पर विचार किया जाएगा. हाल के दिनों में क्लार्क बल्ले से भी बुरी तरह फ्लॉप रहे हैं, इस वजह से वह आलोचनाओं के घेरे में हैं.

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच नवंबर में एशेज सीरीज़ खेली जानी है. एशेज से पहले टीम को पाकिस्तान के साथ कुछ टेस्ट और वनडे खेलने हैं. पोंटिग के मुताबिक एशेज से पहले भारतीय उपमहाद्वीप में खेलना फायदेमंद होगा. इससे इंग्लैंड के ख़िलाफ़ मदद मिलेगी.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: आभा मोंढे

संबंधित सामग्री