1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मां बाप ने भेजा ससुराल, क्लास के बच्चे वापस ले आए

भारत के राजस्थान राज्य में एक 11 साल की लड़की की शादी कर मां बाप ने उसे ससुराल भेज दिया. लेकिन उसके साथ पढ़ने वाले बच्चों ने उसे वहां से निकाल कर वापस स्कूल पहुंचा दिया.

पीड़ित लड़की के परिवार वालों ने 2012 में उसकी शादी उम्र में उससे काफी बड़े व्यक्ति से करवा दी थी. उस वक्त लड़की की उम्र महज 11 साल थी. 5 साल बाद 2017 में घर वालों ने उसका गौना करा कर उसे ससुराल भेज दिया. राजस्थान और कई दूसरे भारतीय राज्यों में लड़कियों को शादी के कुछ साल बाद ससुराल भेजा जाता है खासतौर से बाल विवाह के मामलों में इसे गौना कहते हैं. 

परिवार वालों ने लड़की की शादी पश्चिमी राजस्थान में करवायी थी, जहां आज भी बाल विवाह का प्रचलन है. मई माह में लड़की के रिश्तेदारों ने उसका स्कूल छुड़वाकर पास के गांव में अपने पति के पास जाकर रहने के लिए मजबूर किया.

लेकिन स्कूल में उसके साथ पढ़ने वाले बच्चों ने मीलों नंगे पांव पैदल चलकर अपनी दोस्त का नया घर ढूंढ निकाला.

बच्चों के लिए काम कर रही एक गैरसरकारी संस्था सखी बाल निकेतन के एक शिक्षक गोपाल सिंह ने कहा, "उन्होंने किसी तरह घर खोज लिया और लड़की से मिले. लड़की ने उन्हें बताया कि वह वापस स्कूल लौटना चाहती है और अपने सास ससुर के साथ नहीं रहना चाहती. इस संस्था ने लड़की को वापस स्कूल पहुंचाने में बच्चों की मदद की थी.

शुरू में पुलिस उनकी बात सुनने को राजी नहीं हुई, लेकिन उन्हें जिले के एक प्रशासनिक अधिकारी का नंबर पुलिस स्टेशन की दीवार पर मिल गया, जिससे उन्हें बाद में मदद मिली.

जिला कलेक्टर सिद्धार्थ महाजन ने एएफपी से कहा कि, "मैंने कुछ अधिकारियों को फोन किया जिसके बाद लड़की को बचाया गया और उसे वापस स्कूल पहुंचाया गया. "
भारत में कानूनन शादी के लिए लड़कियों उम्र 18 तय है, लेकिन लाखों बच्चों का विवाह तब होता है जब वे बहुत छोटे होते हैं, खासकर गरीब ग्रामीण क्षेत्रों में.
यह रिवाज खासकर राजस्थान में विशेष रूप से प्रचलित है जहां राजनीतिक रूप से शक्तिशाली ग्राम परिषदों की सामाजिक और नैतिक जीवन पर मजबूत  नियंत्रण है.

एसएस/एनआर (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री