1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

महिलाओं ने जीती चैंपियंस लीग

पेप गुआर्दियोला की टीम बायर्न म्यूनिख जो नहीं कर सकी, वोल्फ्सबुर्ग की महिलाओं ने वो कर दिखाया. उन्होंने महिला चैंपियंस लीग का खिताब बचा लिया है. इस बार फिर वो 2-0 से जीत गई हैं.

लिस्बन में मंगलवार को वोल्फ्सबुर्ग की टीम ने स्वीडन के टिरेसो एफएफ को हरा दिया. वोल्फ्सबुर्ग के कोच राल्फ केलरमन ने कहा, "टीम ने दूसरे हाफ में बढ़िया खेल दिखाया. मुझे उन पर गर्व है. इस टीम की यही खूबी है. मुझे लगता है कि हमें सही रास्ता हाफ टाइम में मिला. ये आखिरकार चैंपियंस लीग का फाइनल था. और ब्रेक के पहले जैसा हम खेल रहे थे, वो काफी नहीं था." हालांकि वोल्फ्सबुर्ग ब्राजीलियाई स्ट्राइकर मार्ता की टीम के सामने कोई फेवरेट टीम नहीं थी. 28वें मिनट में मार्ता ने और 30वें मिनट में वेरोनिका बकेट ने गोल कर टिरेसो को आगे कर दिया था. लेकिन सेकंड हाफ में वोल्फ्सबुर्ग ने टिरेसो को पूरी तरह घेर लिया.

ब्रेक से आते ही अलेक्सांड्रा पॉप ने गोल दागा. कुछ ही सेकंड बाद टीम के पास स्कोर बराबर करने का मौका था लेकिन वो चूक गए. 53वें मिनट में वोल्फ्सबुर्ग फिर लौटा, जब कप्तान मार्टिना मुइलर ने टीम को आगे बढ़ाया. एक बार फिर प्रतिद्ंवद्वी टीम की मार्ता ने बताया कि उन्हें लगातार पांच साल से साल की सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी का खिताब क्यों मिल रहा है. हाफ टाइम के 10 मिनट बाद उन्होंने टीम के लिए एक गोल और दागा. वेरेना फाइस्ट, जिनका गुरुवार को जन्मदिन भी था, उन्होंने 68वें मिनट में गोल किया.

आखिर में 80वें मिनट में मुइलर के चौथे गोल के साथ जर्मनी की वोल्फ्सबुर्ग ने अपनी जीत पक्की कर ली.

एएम/एजेए (डीपीए)

DW.COM