1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

महिलाओं ने खुद को खदान में बंद किया

चिली में 33 महिलाओं ने खुद को एक खदान में बंद कर लिया. मंगलवार को इन महिलाओं ने विरोध दर्ज कराने के लिए यह कदम उठाया. चिली में हाल ही में 33 मजदूरों को दो महीने फंसे रहने के बाद खान से निकाला गया था.

default

ये महिलाएं सूनामी और भूकंप से पीड़ित लोगों की सहायता के लिए चलाए जा रहे एक कार्यक्रम के बंद किए जाने का विरोध कर रही थीं. वे खनिकों की तरह की वर्दियां और हेलमेट पहने हुए थीं. महिलाएं 900 मीटर गहरी एक पुरानी कोयला खदान में 500 मीटर गहराई तक उतर गईं. ड्राफ्ट ऑफ द डेविल नाम की यह खदान सैनटियागो से 500 किलोमीटर दूर एक मशहूर पर्यटन स्थल है.

महिलाओं ने पत्रकारों को बताया कि वे लोग 27 फरवरी को आए भूकंप और सूनामी के पीड़ितों के लिए चलाए जा रहे राहत कार्यक्रम में काम कर रही थीं. इन महिलाओं ने खान में बैठकर भूख हड़ताल करने की भी धमकी दी. इनकी मांग है कि कार्यक्रम को फिर से शुरू किया जाए. इस कार्यक्रम में 12 हजार से ज्यादा लोगों को नौकरियां मिली हुई थीं. 2011 के बजट पर इस वक्त संसद में चर्चा चल रही है और महिलाओं की मांग है कि बजट में इस कार्यक्रम को दोबारा शुरू करने की बात आ जाए.

NO FLASH Rettung Bergarbeiter Chile

एक प्रदर्शनकारी महिला ब्रिगीदा लारा ने कहा, "हमने अपनी बात सुनाने के लिए कई कदम उठाए लेकिन सरकार ने कोई ध्यान नहीं दिया. अब वे हमें ताकत के इस्तेमाल पर मजबूर कर रहे हैं."

इन महिलाओं को विरोध का यह अनोखा तरीका पिछले महीने की उस घटना से ही सूझा है जब 33 खनिक सान खोजे में तांबे और सोने की एक खदान में फंस गए थे. उन्हें अक्टूबर में दो महीने की मशक्कत के बाद मुक्त कराया जा सका था. इस बचाव ऑपरेशन ने दुनियाभर में चर्चा बटोरी थी.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links