1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

महारानी एलिजाबेथ यूरोप में बंटवारे के खिलाफ

जर्मनी की यात्रा कर रहीं ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने यूरोप में बंटवारे को "खतरनाक" बताया है. ब्रिटिश प्रधानमंत्री कैमरन ब्रिटेन के ईयू में बने रहने की शर्तों पर पुनर्विचार करने जर्मन राजधानी बर्लिन में हैं.

ब्रिटेन की 89 वर्षीया महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन और जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल समेत सभी उपस्थित महत्वपूर्ण लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि अपने जीवन में "हमने अपने महाद्वीप में सबसे बुरा और सबसे अच्छा भी देखा है. हम इसके गवाह हैं कि कितनी जल्दी चीजें बेहतरी की ओर बदल सकती हैं. लेकिन हम यह भी जानते हैं कि हमें युद्ध के बाद की दुनिया के फायदों को बरकरार रखने के लिए कड़ी मेहनत करने की जरूरत है."

चांसलर मैर्केल ने महारानी को श्प्रे नदी पर खुली नौका में सैर कराने के बाद चांसलरी में उनका स्वागत किया. अपनी यात्रा के पहले दिन हुए सरकारी स्वागत समारोह में बोलते हुए महारानी एलिजाबेथ ने कहा, "हम जानते हैं कि यूरोप में बंटवारा खतरनाक होगा और अपने महाद्वीप के पश्चिम और पूर्व में हमें इससे बचना होगा." द्वितीय विश्व युद्ध की समाप्ति के बाद गद्दी संभालने वाली महारानी की पांचवी जर्मन यात्रा है.

यूरोपीय संघ में बदलावों की मांग कर रहे ब्रिटिश प्रधानमंत्री कैमरन ने दोपहर में चांसलर मैर्केल से मुलाकात की. उनकी बातचीत के बारे में कोई ब्यौरा नहीं दिया गया. ब्रिटेन की महारानी आमतौर पर देश में रोजाना की राजनीति से दूर ही रहती हैं. लेकिन कई विशेषज्ञों की दलील है कि उनके और कैमरन के एक ही समय पर जर्मनी में होने को महज संयोग नहीं बल्कि ईयू में सुधारों के लिए समर्थन जुटाने के प्रयास के तौर पर देखा जा सकता है.

जर्मन राष्ट्रपति के सरकारी निवास बेलेव्यू पैलेस में आयोजित सम्मान समारोह में जर्मन राष्ट्रपति योआखिम गाउक ने ब्रिटेन के ईयू से निकलने की संभावना पर टिप्पणी की. गाउक ने कहा, "यूरोपीय संघ को ब्रिटेन की जरूरत है...इसीलिए ब्रिटेन के अभीष्ट सुधारों के बारे में सृजनात्मक बातचीत किया जाना जरूरी है. जर्मनी स्वस्थ साझेदारी की भावना से इस संवाद को समर्थन देगा. आखिर ब्रिटेन यूरोप का ही हिस्सा है."

आरआर/एमजे (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री