1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

"महान प्रतिभा तेंदुलकर से मेरी क्या तुलना"

इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टर कुक ने कहा कि उनकी तुलना महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर से न की जाए. कुक के मुताबिक तेंदुलकर अद्भुत प्रतिभाशाली जीनियस हैं.

वनडे और टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड मास्टर ब्लास्टर के नाम से मशहूर भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का है. लेकिन श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में इंग्लैंड के कप्तान एलिस्टर कुक ने सचिन का एक रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया. कुक सबसे कम उम्र में टेस्ट क्रिकेट में 10,000 रन बनाने वाले बल्लेबाज बने. उन्होंने 31 साल 157 दिन की उम्र में यह कीर्तिमान बनाया. तेंदुलकर से पांच महीने पहले.

कुक की इस कामयाबी पर मीडिया ऐसा मुग्ध हुआ कि उसने सचिन से उनकी तुलना शुरू कर दी. सचिन ने 200 टेस्ट मैचों में 51 शतकों की मदद से 15,921 रन बनाए हैं. इस दौरान भारतीय बल्लेबाज का औसत 54 का था. वहीं कुक ने 128 टेस्ट मैचों में 47 के औसत से 10,042 रन बनाए हैं. 47 के औसत से खेलने वाले कुक को सचिन का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए अभी भी करीब 6,000 रनों की दरकार है.

इसे बड़ा फासला करार देते हुए इंग्लैंड के कप्तान ने कहा, "छह हजार रन बनाना बहुत लंबा सफर है." लॉर्ड्स में पत्रकारों से बात करते हुए कुक ने कहा, "यह रिकॉर्ड एक अद्भुत प्रतिभाशाली जीनियस ने बनाया है. मैं जीनियस नहीं हूं, तेंदुलकर हैं, इसीलिए सफर अभी बहुत लंबा है."

मीडिया ने जब कुक से उनके लक्ष्यों के बारे में पूछा तो इंग्लिश कप्तान ने कहा, "निजी तौर पर आपने कुछ लक्ष्य तय किये होते हैं और आप उन्हें हासिल करना चाहते हैं. लेकिन फिलहाल मेरे कई लक्ष्य इंग्लैंड की टीम के कप्तान के तौर पर भी हैं और यह जिम्मेदारी मुझे व्यक्तिगत बल्लेबाजी के कीर्तिमानों से अलग भी करती है."

टेस्ट क्रिकेट में पहली बार 10,000 रन बनाने वाले पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने पिछले हफ्ते कहा था कि कुक सचिन का टेस्ट रनों का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं. गावस्कर के मुताबिक कुक की उम्र कम है और इंग्लैंड दूसरे देशों के मुकाबले कहीं ज्यादा टेस्ट क्रिकेट खेल रहा है.

DW.COM