1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

महंगी हो रही फेस्टिवल की बीयर

सितंबर से अक्टूबर के बीच जर्मन शहर म्यूनिख में होने वाले अक्टूबरफेस्ट में दुनिया भर से लाखों लोग आते हैं. बीयर की हर ग्लास के लिए लोग यहां भारी कीमत देने को तैयार होते हैं. इस बार कीमतें आसमान छूएंगी.

जर्मनी बीयर के लिए मशहूर है. यहां छह हजार से ज्यादा किस्मों की बीयर बनती और बिकती है. बीयर के रंग, स्वाद, अल्कोहल की मात्रा और उसे ब्रू करने के तरीकों के अनुसार तरह तरह की बीयर तैयार की जाती है. जर्मनी में हर प्रांत की अपनी खासियत है. दक्षिणी प्रांत बवेरिया इनमें सबसे ज्यादा मशहूर है.

हर साल 16 से 18 दिन तक चलने वाले बीयर फेस्टिवल में देश विदेश से लोग इस इलाके की बीयर को चखने यहां पहुंचते हैं. इस बीयर फेस्ट की खास बात यह है कि यहां लोगों को जिस ग्लास में बीयर सर्व की जाती है वह तीन-चार सौ मिलीलीटर का नहीं, बल्कि पूरे एक लीटर का होता है.

अन्य मेलों की तरह यहां भी लोगों को सामान्य से ज्यादा खर्च करना पड़ता है. लेकिन इस बार जितने खर्च की बात हो रही है, वह मजे को खराब कर सकता है. बवेरिया के पर्यटन विभाग का कहना है कि इस साल 20 सितंबर से 5 अक्टूबर के बीच होने वाले अक्टूबर फेस्ट में लोगों को एक लीटर के लिए दस यूरो से भी ज्यादा यानि कम से कम आठ सौ रुपये देने के लिए तैयार रहना होगा.

जर्मनी में आम तौर पर अगर किसी सुपरमार्केट में बीयर खरीदी जाए तो एक लीटर महज एक यूरो में मिल जाती है. इस हिसाब से लोगों की जेबों पर इस साल का फेस्टिवल काफी भारी पड़ने वाला है. 2013 की तुलना में यह तीन प्रतिशत ज्यादा है.

जो लोग बीयर के शौकीन नहीं हैं, उनके लिए यहां कोल्ड ड्रिंक भी मौजूद हैं. लेकिन वे भी सस्ते नहीं. नींबू पाने के लिए साढ़े आठ यूरो और सादे पानी के लिए कम से कम सात यूरो खर्चने होंगे. और अगर यहां आने वाले यह सोचें कि अपनी बीयर खुद ही ले कर पहुंच जाएंगे, तो ऐसा सोचना व्यर्थ है, क्योंकि आयोजन वाले पार्क में घुसने से पहले सबके बस्तों की जांच की जाती है. पीने का कोई भी सामान साथ हो, तो उसे वहीं छोड़ना पड़ता है.

आईबी/एमजे (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री