1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

"महंगी पड़ सकती है अफरीदी की कप्तानी"

शाहिद अफरीदी को पाकिस्तानी वनडे, टेस्ट और ट्वेंटी20 टीम का कप्तान बनाने की आलोचना हो रही है. खासकर कई पूर्व खिलाड़ी उन्हें टेस्ट टीम का कप्तान बनाए जाने से खुश नहीं हैं. वे मानते हैं कि यह फैसला महंगा पड़ सकता है.

default

अफरीदी के कप्तान बनने से सब हैरान

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ज़हीर अब्बास अफरीदी को कप्तान बनाए जाने से हैरान हैं और कहते हैं कि चयनकर्ताओं को इस बारे में थोड़ा और सोचविचार करना चाहिए था. उन्होंने कहा, "मैं तो बोर्ड के फैसले पर बिल्कुल हैरान हूं क्योंकि शाहिद ने पिछले चार साल में टेस्ट क्रिकेट नहीं खेला है. यह बहुत ही अजीब फैसला है और उल्टे घातक साबित हो सकता है. अफरीदी नियमित टेस्ट खिलाड़ी नहीं हैं. उन्होंने 2006 में पिछला टेस्ट मैच खेला था. ऐसे में बोर्ड कैसे उन्हें ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के साथ होने वाली दो मुश्किल टेस्ट श्रंखलाओं की कप्तानी दे सकता है."

अब्बास के मुताबिक यह फैसला जल्दबाज़ी में लिया गया है. वह कहते हैं, "मुझे नहीं लगता कि इंग्लैंड के दौरे के लिए कप्तान की घोषणा करने की कोई जल्दबाज़ी थी. बोर्ड एशिया कप के शुरू होने का इंतजार कर सकता था. इसके बाद फैसला हो सकता था कि पाकिस्तानी टेस्ट टीम की कप्तानी कौन करेगा."

अब्बास मानते हैं कि टेस्ट क्रिकेट वनडे और टी20 से अलग है. उनके मुताबिक, "टेस्ट मैच ही असल चुनौती है. वहां कोई खिलाड़ी अपनी कमज़ोरी और किसी अन्य वजह को छिपा नहीं सकता."

पाकिस्तान के एक अन्य पूर्व कप्तान और पूर्व मुख्य चयनकर्ता आमिर सोहेल को भी अफरीदी के कप्तान बनने से उतनी ही निराशा हुई है. उनका मानना है कि 30 वर्षीय ऑल राउंडर अफरीदी के लिए इंग्लैंड में टेस्ट टीम की कप्तानी करना मुश्किल होगा. वह कहते हैं, "बोर्ड ने अपना फैसला ले लिया है, लेकिन इस पर बहस होनी चाहिए. यह एक बड़ा जुआ है. मुझे लगता है कि शाहिद की इंग्लैंड में कड़ी परीक्षा होगी क्योंकि वह चार साल से टेस्ट क्रिकेट से बाहर रहे हैं."

सूत्रों के मुताबिक, एक अन्य पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद भी अफरीदी को टेस्ट कप्तान बनाए जाने के हक में नहीं हैं और इस बारे में उन्होंने अपनी आपत्ति पीसीबी के मुखिया एजाज़ बट तक पहुंचा दी है.

वैसे पूर्व चयनकर्ता अब्दुल कादिर ने अफरीदी को टेस्ट टीम की कमान देने का समर्थन किया है. उनके मुताबिक यह सही दिशा में सही कदम है. वह कहते हैं, "मुझे लगता है कि बोर्ड को यह फैसला काफी पहले ही कर लेना चाहिए था. पता नहीं क्यों वे इसमें देरी करते गए. मैं बोर्ड से अपील करूंगा कि सलमान बट को एशिया कप और इंग्लैंड दौरे के लिए उपकप्तान बनाया जाए. मौजूदा दौर में अफरीदी ही सबसे अच्छी पसंद हैं. मुझे लगता है कि उन्हें तब तक कप्तान बने रहना चाहिए जब तक बोर्ड एक उपकप्तान को इस जिम्मेदारी के लिए अच्छी तरह तैयार कर न ले."

कादिर ने एशिया कप के संभावितों की 35 सदस्यों वाली सूची में पूर्व कप्तान यूनुस खान और शोएब मलिक को शामिल किए जाने का भी समर्थन किया है. वह कहते हैं, "जो हुआ सो हुआ. हमें इस स्तर के अपने बेहतरीन खिलाड़ियों को बर्बाद नहीं करना चाहिए."

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः ईशा भाटिया

संबंधित सामग्री