1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

मरते दम तक, दम मारो दम

जापान में तंबाकू और सिगरेट के दामों में भारी बढ़ोत्तरी की गई है. लेकिन धुएं के छल्ले उड़ाने के शौकीनों को परवाह नहीं है. एक व्यक्ति ने तो सिगरेट के 100 कार्टन जमा कर लिए हैं. एक कार्टन में सिगरेट के 10 पैकेट होते हैं.

default

शुक्रवार को जापान में सिगरेट पर अब तक का सबसे ज्यादा टैक्स लगाया गया. सिगरेट के कई ब्रांडों के दाम तो 40 फीसदी तक बढ़ गए हैं. सरकार ने यह कदम इस उम्मीद में उठाया है कि बहुत से लोग सिगरेट को अलविदा कहेंगे. जापान को ध्रूमपान करने वालों का स्वर्ग कहा जाता है.

लेकिन सिगरेट के दीवानों पर इस सबसे कोई फर्क नहीं पड़ता. कई लोगों ने अपने लिए पहले से ही तैयारी करके रखी है. सिगरेट के चक्कर में कई जगह तो चोरी की भी खबरें हैं. जापान की राजधानी टोक्यो से 100 किलोमीटर दूर मोको शहर में रविवार को एक 47 वर्षीय बेरोजगार व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया. वह एक सुपरमार्केट से दो कार्टन सिगरेट लेकर भाग रहा था.

जापान में बेहद लोकप्रिय माइल्ड सेवन ब्रांड की सिगरेट का पैकेट अब 300 येन की बयाज 410 येन में बिक रहा है. वहीं सेवन स्टार के दाम 300 येन से बढ़कर 440 येन हो गए हैं. बताया जाता है कि सरकार सिगरेट के दाम बढ़ाकर 700 येन तक करना चाहती है. यूरोप और अमेरिका

Flash-Gallerie Feinde am Arbeitsplatz

में भी सिगरेट इसी दाम में मिलती है. भारतीय एक रूपया लगभग दो जापानी येन के बराबर होता है.

जापान के स्वास्थ्य मंत्रालय के आकंड़ों के मुताबिक देश में हर साल फेंफड़ों के कैंसर और दिल की बीमारी से 6,800 लोगों की मौत होती है. चिंता की बात यह है कि यह बीमारियां सीधे स्मोकिंग की बजाय पैसिव स्मोकिंग से भी हो रही हैं. इन सब आंकड़ों के चलते कुछ लोगों ने सिगरेट छोड़ने का मन भी बना लिया है. लेकिन दाम बढ़ने के चर्चा शुरू होते ही कुछ लोगों ने आने वाले दिनों के लिए सिगरेट का भंडार भी जुटाना शुरू कर दिया.

बताते हैं कि तोक्यो में सिगरेट की एक दुकान पर एक व्यक्ति ने 100 कार्टन खरीद डाले जिनकी कीमत तीन लाख येन बैठती है. ऐसे ही लोगों की फेहरिस्त में जाने माने अर्थशास्त्री ताकुरो मोरीनागा भी शामिल है. दिन में सिगरेट के दो पैकेट खत्म देने वाले ताकुरो ने मीडिया को बताया 1000 पैकेट तो उन्होंने भी खरीदे हैं. वह तो यहां तक कह देते है कि प्रति पैकेट कीमत 1000 येन भी पहुंच जाए तो वह सिगरेट पीना नहीं छोड़ सकते. हो सका तो वह जिंदगी भर के लिए सिगरेट का भंडार जमा कर लेंगे और उसे फ्रिज में रखेंगे.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः महेश झा

DW.COM

WWW-Links