1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मनमोहन गिलानी के बीच मुलाक़ात के संकेत

पाकिस्तान ने कहा है कि प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी भूटान में होने वाली दक्षिण एशियाई देशों के संगठन 'सार्क' की बैठक के दौरान अन्य देशों के नेताओं से द्विपक्षीय वार्ता करेंगे. मनमोहन और गिलानी की मुलाक़ात के संकेत.

default

पिछले दिनों वॉशिंगटन में मिले मनमोहन और गिलानी

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने पहले कहा था कि प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी और मनमोहन सिंह के बीच सार्क शिखर वार्ता के दौरान बैठक का कार्यक्रम नहीं है लेकिन अब आधिकारिक बयान में कहा गया है कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री भूटान की राजधानी थिम्पू में अन्य देशों के नेताओं से बातचीत करेंगे. हालांकि मनमोहन और गिलानी के बीच मुलाक़ात की संभावना का अब भी स्पष्ट रूप से उल्लेख नहीं किया गया है.

भारत की विदेश सचिव निरूपमा राव गुरुवार को स्पष्ट कर चुकी हैं कि फ़िलहाल भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों में मुलाक़ात का कोई कार्यक्रम नहीं है. राव ने साफ़ शब्दों में कहा कि पाकिस्तान ने ऐसी किसी बैठक की पेशकश नहीं की है. हालांकि पाकिस्तान के एक अख़बार ने विदेश मंत्रालय के अधिकारी के हवाले से छापा है कि पाकिस्तान निरूपमा राव के इस बयान से हैरान है.

द न्यूज़ अख़बार ने विदेश मंत्रालय के अधिकारी के हवाले से लिखा, "भारत की विदेश सचिव के बयान से हम हैरान हैं. हम उन्हें ध्यान दिलाना चाहेंगे कि पाकिस्तान ने आपसी रिश्तों को सुधारने के लिए एक रोडमैप का प्रस्ताव दिया था. पहले न्यूयॉर्क में और 25 फ़रवरी को विदेश सचिव स्तर की वार्ता के दौरान. हम दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों के बीच भूटान में शिखर वार्ता चाहते हैं और इस संबंध में भारत के रुख़ का इंतज़ार कर रहे हैं."

सार्क शिखर वार्ता में प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे हैं. इस शिखर वार्ता में ''हरित और ख़ुशहाल दक्षिण एशिया'' का संकल्प लिया जाएगा जिसके ज़रिए पर्यावरण क्षति और जलवायु परिवर्तन की चुनौती से मुक़ाबला होगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ए कुमार

संबंधित सामग्री