1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

मछली के करंट से मगरमच्छ की मौत

एक घंटे तक बार बार 860 वोल्ट बिजली का झटका बड़े बड़े जीवों को पल भर में मार देता है. देखिए कैसा होता है इलेक्ट्रिक ईल मछली का झटका.

दक्षिण अमेरिका में अमेजन और ऑरिनोको नदी में रहने वाली इलेक्ट्रिक ईल को मीठे पानी का सबसे जानलेवा जीव कहा जाता है. करीब दो मीटर लंबी यह मछली 860 वोल्ट तक का करंट मार सकती है. दूसरी मछलियों, केकड़ों और झींगों का शिकार करने के लिए यह कम बिजली छोड़ती है और आत्मरक्षा के लिए अधिकतम करंट.

शांत पानी में मटमैले तटों के करीब रहने वाली इलेक्ट्रिक ईल से आम तौर पर मगरमच्छ और घड़ियाल दूर रहते हैं. लेकिन कभी कभार कुछ मगरमच्छ इसका शिकार करने का दुस्साहस कर बैठते हैं. इस वीडियो में एक ऐसा ही वाकया कैद हुआ. एक किशोर मगरमच्छ ने इलेक्ट्रिक ईल को निवाला बनाने की कोशिश की. मगरमच्छ ने उसे अपने शक्तिशाली जबड़ों में दबा भी लिया, लेकिन इसके बाद जो हुआ वो हैरान करने वाला था.

इलेक्ट्रिक ईल ने करंट के झटके मारने शुरू कर दिए. बार बार हाई वोल्टेज का करंट मगरमच्छ के दिल और तंत्रिका तंत्र को नाकाम करने के लिए काफी था. मछली मुंह में दबी ही थी कि मगरमच्छ तड़पने लगा. कुछ ही देर में उसकी मौत हो गई.

इलेक्ट्रिक ईल के बच्चे भी 100 वोल्ट तक करंट निकालते हैं. बड़ी मछलियां 860 वोल्ट तक बिजली पैदा करती हैं. गुस्सा होने पर यह मछली घंटे भर तक बार बार बिजली के झटके दे सकती है. इसके झटके इंसान के लिए भी जानलेवा होते हैं. ब्राजील में कुछ जगहों पर इलेक्ट्रिक ईल से जुड़े चेतावनी बोर्ड भी लगाए गए हैं.

DW.COM