1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मंथन

मंथन 153 में खास

मंथन में इस बार बात तनाव की और उसे कम करने वाली कॉफी की. लेकिन बहुत ज्यादा कॉफी के साइड इफेक्ट भी होते हैं. तो कैसे बीच का रास्ता निकाल रहे हैं वैज्ञानिक, जानेंगे इस बार मंथन में.

तनाव का शिकार होने वाले लोगों की तादाद बढ़ रही है. नौकरी में तनाव, सड़क और हवाई जहाज के शोर से तनाव, और निजी जिंदगी का तनाव अलग से. ज्यादातर लोग तनाव पर काबू पाने में कामयाब नहीं हो पाते. उम्मीद की किरण दिख रही है कि तनाव से परेशान लोगों को राहत मिले. रिसर्चरों ने पाया है कि लोग तनाव कम करने के लिए कॉफी का सहारा लेते हैं.

मलबे में जीवन

समुद्र के छिछले पानी में डूबे जहाजों का मतबा कुछ सालों के भीतर कोरल से भर जाता है. इसके बाद उसमें कई अन्य समुद्री जीव और पौधे भी शरण लेने लगते हैं. इस जानकारी की मदद से वैज्ञानिक, बेजान हो चुके कई तटीय इलाकों में प्रकृति और जीवन को वापस लाने की कोशिश कर रहे हैं.

पम्पा का पुर्नजीवन

मोनोकल्चर ने अर्जेंटीना के पम्पा में जमीन को चूस लिया है. चारे की मांग के चलते पहले जंगल कटे और फिर घास के मैदान उजड़ने लगे. किसानों को इसका असर देर में समझ में आया. अब जटिल इको सिस्टम को फिर से पटरी पर लाने की तैयारी हो रही है.

रॉक क्लाइंबिंग की दीवानगी

दक्षिण जर्मनी में फ्रैकोनियन रॉक. आलेक्जांडर मेगोस और उनके दोस्त लगातार यहां ट्रेनिंग करते हैं. 21 साल के मेगोस पांच साल की उम्र से रॉक क्लाइंबिंग कर रहे हैं. वे यंग यूरोपियन चैंपियन रह चुके हैं और फिलहाल दुनिया के बेहतरीन क्लाइंबरों में गिने जाते हैं. नया करने की चाह में वे दुनिया भर में घूमते रहते हैं. वे इसमें जरा भी जोखिम नहीं देखते.

कबाड़ से कला

स्ट्रीट आर्ट के बारे में सोचें तो दिमाग में ग्रैफिटी की तस्वीर उभरती है. और बड़े शहरों में तो दीवारें ग्रैफिटी से भरी पड़ी हैं. कोपेनहैगेन में आर्टिस्ट थॉमस डाम्बो कुछ नया कर रहे हैं. वे रंग स्प्रे करने के बदले बड़े बड़े इंस्टॉलेशन से लोगों को चकित करते रहते हैं. और इसे बनाने में वे नई चीजों का इस्तेमाल नहीं करते.

आईबी/ओएसजे

DW.COM