1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

फीडबैक

मंथन है नए आविष्कारों का प्लेटफार्म

हमें बड़ी खुशी होती है जब आपसे मंथन, वेबसाइट पर हमें फीडबैक मिलता है. आपके सुझाव हमारे लिए बहुत अहम हैं. आगे भी हम आपके सुझावों का स्वागत करते रहेंगे...

मंथन हमें चिंतन पर विवश कर देता है कि जब एक प्लेटफार्म पर विज्ञान और टेक्नोलॉजी संबंधित इतना कुछ है तो हम क्यों किसी और द्वार पर दस्तक दें. नित नए परिक्षण, विज्ञान के नए आविष्कार, अद्धभुत कारनामों का लेखा जोखा स्पष्ट संकेत देता है कि नियमित रूप से इस कार्यक्रम को देखकर विज्ञान जगत की हर हलचल से बा खबर रह सकते हैं. ऊपर से डीडब्ल्यू की मंथन पहेली प्रतियोगिता इस कहावत को सार्थक करती है कि आम के आम गुठलियों के दाम. - मुहम्मद सादिक आजमी, ग्राम लोहिया, जिला आजमगढ़ उत्तर प्रदेश

लिखने में आलसी भेजें स्माइली - अकसर ऐसा होता है जब हम डीडब्ल्यू से किसी विषय के बारे में जानना चाहते हैं, लेकिन किसी वजह से आप से नहीं कह पाते, पर जब आप हमारे पसंद के विषय के बारे में बहुत रोचक और अहम जानकारी ले आते हैं तो बहुत ही अच्छा लगता है. ऐसा ही एक विषय था इमोजीस यानी स्माइली का इस्तेमाल, जिससे हम सभी का वास्ता रोजाना ही होता है. आपने अपनी इस रिपोर्ट में बहुत बेहतर और विस्तृत अंदाज में इस बारे में बताया है. करोड़ों इंटरनेट यूजर आजकल लिखने के बजाय इमोजीस यानी स्माइली का इस्तेमाल करते हैं. यह ज्यादातर मामलों में समय बचाने के लिए किया जाता है लेकिन सवाल है कि क्या वे पारंपरिक भाषा के खात्में का कारण बन रहे हैं? मैं समझता हूं कि इमोजीस यानी स्माइली का इस्तेमाल भाषा के लिए किसी भी प्रकार का खतरा नहीं बन सकते. यह प्रक्रिया न केवल भाषा में वृद्धि का सबब बनती है, बल्कि भाषा को और भी व्यापक और रोचक बनाती है. मजबूत भाषाएं अपने आप में बहुत शक्तिशाली और विशाल होती हैं. इस बहुत अहम और रोचक जानकारी के लिए डीडब्ल्यू का शुक्रिया. - आजम अली सूमरो, खैरपुर मीरस, सिंध, पाकिस्तान.

इस बार मंथन में ऐसी तकनीक के बारे में जाना जो 24 घंटे में घर बना सकती है, 3डी प्रिंटर की सहायता से भविष्य में चांद पर 3डी बस्ती बसाने की योजना के बारे में खास जानकारी मिली, स्टॉर्म हंटर यानी तूफानों का पीछा करने वाले जांबाज लोगों के जुनून के बारे में भी जानने का मौका मिला और साथ ही एसएमएस भेजने वाली गाय का विषय भी इस बार के मंथन में चार चांद लगा गया. पर अफसोस मैं आज का मंथन टीवी पर नहीं देख पाया. लेकिन मंथन 71 में दिखाये जाने वाले इन विषयों के अंतर्गत यह सभी रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारियां डॉयचे वेले हिन्दी की वेबसाइट पर पढ़ने को मिलीं. आज के एपिसोड से जुड़े यह सारे वीडियो मैं जल्द ही डीडब्ल्यू के यूट्यूब चैनल पर देखूंगा. आशा है आप विज्ञान, तकनीक और पर्यावरण के इस खास कार्यक्रम में सुपर कम्प्यूटर और कैसे बनते हैँ एपल के आईपैड के बारे में भी जरुर दिखायेंगे. - आबिद अली मंसूरी, देशप्रेमी रेडियो लिस्नर्स क्लब, बरेली, उत्तर प्रदेश

चांद पर 3डी बस्ती बन रही है इस बात में तो कोई शक नहीं कि आधुनिक साइंस की वजह से हमारी दुनिया बड़ी क्रांतियों को होता हुआ देख रही है, लेकिन बहुत से मामलों में हमने अपनी इस पृथ्वी को नुकसान पहुंचाने में भी कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी, और अब इंसान जा रहा है चांद पर 3डी बस्ती बसाने, खुदा खैर करे. इस रोचक और अहम जानकारी देने के लिए बहुत शुक्रिया. आजकल इंटरनेट सोशल मीडिया जैसे साधन का उपयोग और इसकी सहायता से मित्रों से वार्तालाप किस तरह से किया जा रहा है इसपर बनी आपकी रिपोर्ट सच्चाई और हकीकत को दर्शाती है. सच करोड़ों इंटरनेट यूजर आजकल लिखने के बजाय इमोजीस का इस्तेमाल करते हैं. इसके अलावा आपातकाल की ओर बढ़ता यूक्रेन, टाटा के एमडी की मौत, जर्मनी में 27 जनवरी नाजी विध्वंस दिवस, ये रिपोर्टें भी अच्छी लगीं. - अमीर अहमद, दिल्ली

मैं रेडियो डीडब्ल्यू हिन्दी सर्विस का फैन हूं और जब से आपका रेडियो बंद हुआ हैं तब से मैं आपकी वेबसाइट का ही भ्रमण करता हूं. ललिता चोपड़ाजी के समय में रेडियो डीडब्ल्यू ने हिंदुस्तान में बड़ी उपलब्धि पाई है. भारत में डीडब्ल्यू को चाहने वाले लाखों की संख्या में मौजूद हैं. - ज़ाकिर हुसैन, दिल्ली

~~~~

संकलनः विनोद चड्ढा

संपादनः आभा मोंढे

DW.COM