1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

फीडबैक

मंथन आकर्षक और उपयोगी कार्यक्रम

कल शनिवार है, मंथन फिर से ला रहा है आपके लिए नई नई जानकारियां. पिछले सप्ताह हमें पाठकों ने क्या लिखा, जानिए यहां..

डॉयचे वेले हिन्दी सेवा ने दुनिया भर के श्रोताओं के साथ जो रिश्ता एक दिन जोड़ा था, वह दिनों दिन और गहरा होता जा रहा है, साथ साथ निरंतर प्रयास और सहयोग की डोर से हमें बांध रहा है. जर्मनी की संस्कृति, खानपान, ज्ञान-विज्ञान, दर्शनीय स्थलों की सैर तस्वीरों के नजर में, खास पेशकश टीवी शो "मंथन" जैसे आकर्षक और उपयोगी कार्यक्रमों के माध्यम से हमें जर्मनी के और करीब लाने की कोशिश और हमारे-आपके रिश्तों को और मजबूत बना रही है. हमें यह यकीन है कि डॉयचे वेले के साथ प्यार भरा यह नाता हमेशा यूं ही बना रहेगा. हर मौसम में, हर ऋतु में हम डॉयचे वेले के साथ हैं और रहेंगे भी. बसंत ऋतु के आगमन पर हमारी ओर से डॉयचे वेले के सभी साथियों को रंगो के त्योहार होली की हार्दिक शुभकामनाएं. "जर्मनी में होली के रंग'- शीर्षक उपस्थापना से जर्मनी में भी साल भर अलग अलग शहरों में होली के आयोजन के बारे में नई जानकारी प्राप्त हुई.- सुभाष चक्रबर्ती, नई दिल्ली

लापता हो गए मलेशियाई एयरलाइंस के विमान से जुड़ी पल-पल की खबरें डॉयचे वेले की वेबसाइट से हमें मिलती रही हैं. आश्चर्य की बात है कि संचार व्यवस्था की पुख्ता और मजबूत तंत्र होने के बावजूद खोजकर्ता सिर्फ कयास की लगा पा रहे हैं. इस बीच चीन द्वारा सैटेलाइट स्थापित करने की खबर के साथ-साथ ये भी सुनने में आ रहा है कि मलेशियाई सरकार ने किसी जादूगर को भी बुला लिया है. वहीं वेबसाइट पर अमेरिका के हवाले से दी गई ताजा खबर ने पूरी तरह से चौंका दिया कि गुम हो जाने के बाद भी ये जहाज कई घंटे हवा में उड़ता रहा. वास्तव में इस तरह की घटनाएं जब घट जाती हैं तभी 'ढोल की पोल' नजर आती है. जिन देशों के नागरिक विमान में सवार थे वो सभी देश अपने अपने स्तर पर खोजबीन में जुट गए. किसी के बीच कोई तालमेल और सामंजस्य नहीं है और न ही सटीक रणनीति है. हमारी तो यही प्रार्थना है कि जल्द से जल्द इस रहस्य से पर्दा उठे ताकि सभी राहत की सांस ले सके. इस बाबत नवीनतम समाचारों से हमें इसी तरह अवगत कराते रहें.- रवि श्रीवास्तव, इंटरनेशनल फ्रेंडस क्लब, इलाहाबाद

जिस मशीन को मानव ने अपने मस्तिष्क का प्रयोग कर बनाया उसी मशीन में मानव के मस्तिष्क की जांच को देख बड़ा अचरज हुआ, पर उस मशीन के एकत्रित आंकड़े दिमाग के उपचार में सहयोगी साबित होंगे जानकर प्रसन्नता हुई और इसे देखना संभव हुआ अपने सबसे लोकप्रिय कार्यक्रम मंथन में. यह एक ऐसा मंच है जहां कल्पना से भी अधिक आविष्कारों का प्रस्तुतिकरण होता है. इस कार्यक्रम की जितनी प्रशंसा की जाए कम है.- मुहम्मद सादिक आजमी, ग्राम लोहिया, जिला आजमगढ़, उत्तर प्रदेश

ग्रेगर एन्स्टे का ग्राहम लूकस के साथ पाकिस्तान की स्थिति पर इंटरव्यू पढ़ रहा था. काफी शानंदार इंटरव्यू है. ग्रेगर का इंटरव्यू छोटा था. वो पांच साल पाकिस्तान में रहे हैं, तो पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था, सैन्य शक्ति, भारत और जर्मनी के साथ पाकिस्तान के संबंध के बारे में पूछना चाहिए था. -रवि शंकर तिवारी, जी न्यूज, दिल्ली

मेरी तरफ से डीडब्ल्यू और मंथन की पूरी टीम को बहुत रोचक रिपोर्ट और एक अलग ही नई जानकारी देने के लिए शुक्रिया और मुबारकबाद. रिपोर्ट के शुरू से लेकर अंत तक एक ऐसी अच्छी लय नजर आई जो आखिर में आपके इन शब्दों „ डिटेकटर को पता चलता है कि वो खुद भी भावी हत्यारा हो सकता है „ के साथ एक दिलचस्प चरमोत्कर्ष पर खत्म हुई. मैं समझता हूं कि हमेशा की तरह इस बार भी ऐसी रिपोर्टें मंथन में देखने को मिली जिस तरह की जानकारी मैं हमेशा ही मंथन में देखना चाहता हूं. हमारी इस दुनिया में कहां कहां क्या कुछ हो रहा है और आने वाले दिनों के लिए क्या योजनाएं बन रही हैं, इस तरह की महत्वपूर्ण जानकारी हमें केवल मंथन में ही देखने को मिलती हैं. इसलिए उम्मीद करता हूं कि डीडब्ल्यू के मित्र और टीम मंथन आइंदा भी ऐसी रिपोर्टें बहुत से दीगर विषयों और होने वाली रिसर्च पर पेश करते रहेंगे. बल्कि मैं तो यहां तक भी कहूंगा कि अगर 3 या 6 महीने बाद इस हवाले से कुछ अधिक, या कुछ और नई जानकारी, बात या काम सामने आए, कोई प्रगति होती है तो भी हमें मंथन के जरिए आगाह रखिएगा.- आजम अली सूमरो, ईगल इंटरनेशनल रेडियो लिस्नर्स कलब, खैरपुर मीरस सिंध, पाकिस्तान

संकलनः विनोद चड्ढा

संपादनः आभा मोंढे

DW.COM