1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

"भाषण लिखने वालों को बदलें सोनिया और राहुल"

बिहार चुनाव में मतदान का पहला दौर खत्म हो जाने के बाद जंग और तीखी हो गई है. बीजेपी-जेडी(यू) ने विपक्षी कांग्रेस पर हमले और तेज कर दिए हैं. गुरुवार को पहले दौर में 47 सीटों के लिए 54.31 फीसदी लोगों ने वोट डाले.

default

भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी महासचिव राहुल गांधी को सलाह दी है कि वे अपने भाषण लिखने वालों को बदल डालें. पार्टी का कहना है कि ये लोग ऐसे बातें करते हैं मानो किसी राजशाही के नुमाइंदे हों.

बीजेपी ने कहा कि वे लोग अपने भाषणों में "मौत के सौदागर" जैसे शब्द इस्तेमाल करते हैं और इनका व्यवहार राजा और रानी की तरह है. उन्होंने बिहार में इस तरह भाषण दिए मानो वहां के लिए धन शाही खजाने से दिया गया हो.

पार्टी उपाध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, "मैं सोनिया गांधी और राहुल गांधी को सलाह दूंगा कि वे अपने भाषण लिखने वालों को बदल लें क्योंकि इन लेखकों ने उन्हें हर चुनाव के वक्त मुसीबत में डाला है."

बीजेपी और उसकी सहयोगी पार्टी जेडी(यू) इस बात से नाराज हैं कि कांग्रेस के ये दोनों नेता और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह बिहार में चुनाव सभाओं के दौरान बार बार कहते रहे हैं कि केंद्र सरकार ने राज्य के लिए पर्याप्त धन दिया लेकिन उसका सही इस्तेमाल नहीं हो पाया. बीजेपी ने कहा है कि यह धन किसी शाही खजाने से नहीं दिया गया.

इस बीच गुरुवार को मतदान का पहला दौर 54.31 फीसदी वोटिंग के साथ पूरा हुआ. 47 सीटों के लिए हुए इस मतदान में आमतौर पर शांति बनी रही. पुलिस महानिदेशक नीलमणि ने कहा कि 150 लोगों को गैरकानूनी गतिविधियों के शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया क्योंकि उन लोगों ने चुनावी प्रक्रिया में बाधा पहुंचाने की कोशिश की. बाकी बची 196 सीटों का चुनाव आने वाले चार दौर में होगा.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ओ सिंह

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री