1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारी पड़े जेएनयू में देशविरोधी नारे

जेएनयू में कथित तौर पर देशविरोधी नारे लगाने वाले छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार गिरफ्तार. पिछले दिनों संसद हमले के दोषी अफजल गुरू की विश्वविद्यालय परिसर में बरसी मनाने से जुड़े मामले में दिल्ली पुलिस की कार्रवाई.

दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तारी के बाद पुलिस की पूछताछ जारी है. जेएनयू में वामपंथी विचारधारा वाले छात्र संगठन एआईएसएफ ने दक्षिणपंथी संगठन एबीवीपी को छात्रसंघ चुनावों में हराया था. गिरफ्तार नेता ने कोर्ट में एबीवीपी के उसी हार का उनसे बदला लिए जाने की बात कही है.

कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए केंद्र सरकार में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने देश में रहकर राष्ट्रविरोधी नारे लगाने वालों को किसी भी सूरत में माफ नहीं किए जाने की बात कही थी. इस मामले को लेकर दिल्ली से बीजेपी सांसद महेश गिरि ने देशद्रोह का मामला दर्ज कराया था. योगी ने पत्र लिखकर गृह मंत्री और मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी से जेएनयू के कार्यक्रम के आयोजकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का निर्देश देने का अनुरोध किया था. ईरानी ने कहा है कि भारत "माता" का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

जेएनयू के अलावा दिल्ली के प्रेस क्लब में भी देश विरोधी नारे लगाए जाने की शिकायतें आई थीं. इसमें शामिल बताए जा रहे दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर अली जावेद से भी पुलिस पूछताछ कर रही है. अफजल गुरु की बरसी पर प्रेस क्लब में अली ने ही कार्यक्रम का आयोजन किया था. सवाल आतंकी अफजल गुरू को फांसी दिए जाने के दिन को शहादत दिवस के रूप में मनाए जाने का था. जेएनयू में इसे मनाया गया और इसी से जुड़े नारों की शिकायत पर देशद्रोह का मामला दर्ज हुआ है जिसे कई बुद्धिजीवी गलत मानते हैं.

बुद्धिजीवियों का गढ़ कहे जाने वाली जेएनयू के इन छात्रों का 9 फरवरी 2013 को अफजल गुरु की फांसी की बरसी के कार्यक्रम का वीडियो खूब शेयर किया गया. इसमें कई भारत विरोधी नारे सुनाई देते हैं लेकिन इस वीडियो की सत्यता को प्रामाणित नहीं किया जा सका है. इसकी प्रतिक्रिया में सोशल मीडिया पर लोग अपने गुस्से का इजहार और #ShutDownJNU के साथ यूनिवर्सिटी को बंद तक कर देने की मांग कर रहे हैं. वहीं एबीवीपी ने राजपथ पर प्रदर्शन भी किया.

DW.COM

संबंधित सामग्री