1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

भारत हारा, सेमीफ़ाइनल की उम्मीदें धुंधली

2007 ट्वेंटी20 वर्ल्ड कप चैंपियन भारत इस साल के वर्ल्ड कप से बाहर होने के कगार पर है. वेस्ट इंडीज़ ने भारत को 14 रन से हराया है. विंडीज़ ने पहले खेलकर बनाए 169 रन जिसके जवाब में टीम इंडिया 155 रन ही बना पाई.

default

सुरेश रैना

भारत के शीर्ष बल्लेबाज़ी क्रम ने एक बार फिर निराश किया और वेस्ट इंडीज़ की पेस बैटरी के सामने भारतीय बल्लेबाज़ खुलकर रन नहीं बना सके. भारत के लिए मुरली विजय और गौतम गंभीर ने पारी की शुरुआत की लेकिन 12 रन के स्कोर पर भारत का पहला विकेट गिर गया. 15 रन के निजी स्कोर पर गंभीर भी चलते बने. उस समय स्कोर 27 रन हुआ था. रोहित शर्मा भी कोई कमाल नहीं दिखा सके और ऐसे में ज़िम्मेदारी रैना और धोनी पर आ गई.

Westindische Inseln Sport Cricket Chris Gayle

सुरेश रैना ने 25 गेंदों पर 32 रन जड़े और महेंद्र सिंह धोनी ने 29 रन जबकि हरभजन सिंह ने 14 रन का योगदान दिया. आख़िरी ओवरों में इन्हीं पारियों की बदौलत भारत जीत की रास्ते पर देखने की हिम्मत कर पा रहा था लेकिन बेहतरीन फ़ील्डिंग और ड्वेन ब्रावो की शानदार गेंदबाज़ी ने इस रास्ते को ही बंद कर दिया.

ब्रावो ने लॉन्ग ऑन से डायरेक्ट थ्रो कर धोनी को पैवेलियन भेजा और फिर हरभजन सिंह का कैच पकड़ा. ब्रावो का क़हर यहीं खत्म नहीं हुआ. आशीष नेहरा को शॉर्ट मिड विकेट पर सुलेमान के हाथों कैच आउट करा उन्होंने भारत की हार की इबारत लिख दी.

इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर वेस्ट इंडीज़ को बल्लेबाज़ी की दावत दी और क्रिस गेल ने जमकर भारतीय गेंदबाज़ों की आवभगत की. गेल ने 66 गेंदों में ताबड़तोड़ 98 रन बनाए और वेस्ट इंडीज़ ने 6 विकेट के नुक़सान पर 169 रन का लक्ष्य खड़ा किया.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: ओ सिंह

संबंधित सामग्री