1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

भारत हर मुद्दे पर पाकिस्तान से बात करेगा

भारत ने इस बात के संकेत दिए हैं कि 24 तारीख को होने वाली बातचीत में वह पाकिस्तान के उठाए गए हर मुद्दे पर बातचीत के लिए तैयार है. पाकिस्तान भारतीय हिस्से वाले कश्मीर से सेना तैनाती कानून हटाने की मांग कर सकता है.

default

भारतीय विदेश मंत्रालय के एक सूत्र ने बताया कि भारतीय दल पाकिस्तान किसी आरोप लगाने के उद्देश्य से नहीं जा रहा है. उन्होंने कहा, "हम वहां आरोप लगाने नहीं, बल्कि नए रास्ते तलाशने जा रहे हैं. पाकिस्तान के उठाए गए हर मुद्दे पर भारत विश्वास के साथ बात करने के लिए तैयार है."

Der indische Premierminister Manmohan Singh

भारत की विदेश सचिव निरुपमा राव जब गुरुवार को पाकिस्तानी विदेश सचिव सलमान बशीर से इस्लामाबाद में मिलेंगी, तो भारत पाकिस्तानी क्षेत्र से बढ़ते आतंकवाद, 26/11 के मामले में तेजी से अदालती कार्रवाई और नियंत्रण रेखा के पार से नशीली दवाइयों की तस्करी के मुद्दे को उठाएगा. दोनों पक्षों की बातचीत में आम लोगों में संपर्क बढ़ाने और सीमा के आर पार कारोबार बढ़ाने पर भी विचार किया जाएगा.

विदेश मंत्रालय के सूत्र का कहना है कि पाकिस्तान ने आतंकवादी गतिविधियों को बढ़ा कर भारत और पाकिस्तान के जटिल मामले को और पेचीदा बना दिया है. सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान को इस बात को सुनिश्चित करना चाहिए कि उसकी धरती से भारत पर कोई आतंकवादी हमला न हो.

भारत ने 26/11 के आतंकवादी हमले के सिलसिले में पाकिस्तान से पहले ही विस्तृत रिपोर्ट की मांग की है. भारत का दावा है कि जमात उद दावा प्रमुख हाफिज सईद 26/11 का मास्टरमाइंड है. भारत के गृह मंत्री पी चिदंबरम जब 25 जून को सार्क बैठक के दौरान पाकिस्तानी गृह मंत्री रहमान मलिक से मिलेंगे, तो इस मुद्दे पर चर्चा होगी.

इस बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने कहा कि उनका देश भारत के साथ शांतिपूर्ण संबंध चाहता है. पाकिस्तान और अफगानिस्तान पर अमेरिका के विशेष दूत रिचर्ड होलब्रुक से मुलाकात के दौरान गिलानी ने इस मुद्दे पर बात की.

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने दोनों देशों के विदेश सचिवों, विदेश मंत्रियों और गृह मंत्रियों की प्रस्तावित बैठक का जिक्र करते हुए कहा कि उनका देश भारत के साथ शांतिपूर्ण रिश्ता चाहता है और कश्मीर तथा जल विवाद सहित सभी मुद्दों को शांति के साथ बातचीत से सुलझाना चाहता है.

सरकारी बयान के मुताबिक पाकिस्तान ने इलाके में शांति के लिए हर संभव कदम उठाने की कोशिश की है. होलब्रुक ने भारत और पाकिस्तान के बातचीत की पहल का स्वागत किया और कहा कि अमेरिका इसे बड़ी उम्मीद भरी नजर से देखेगा.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः एस गौड़

संबंधित सामग्री