1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत से मदद लेने पर उहापोह में पाकिस्तान

पाकिस्तान ने अभी तक यह तय नहीं किया है कि वह भारत से बाढ़ राहत में मदद ले या नहीं. भारत सरकार ने कूटनीतिक सूत्रों के जरिए 50 लाख अमेरिकी डॉलर की सहायता देने की पेशकश की है.

default

भारतीय विदेश मंत्री एस एम कृष्णा ने पाकिस्तान के विदेश मंत्री महमूद कुरैशी को शुक्रवार को फोन कर इस पेशकश की जानकारी दी. पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग से जारी हुए कृष्णा के बयान में इस मदद को पाकिस्तान के लोगों के संकट में साथ खड़ा होने की निशानी बताया. हालांकि पाकिस्तानी उच्चायोग की तरफ से जारी बयान में मदद की इस पेशकश का कहीं जिक्र नहीं है. पाक की तरफ से जारी बयान में सिर्फ इतना कहा गया है कि एस एम कृष्णा ने महमूद कुरैशी से बात की और बाढ़ से प्रभावित हुए लोगों के प्रति सहानुभूति जताई.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक विदेश मंत्रालय ने सहायता की पेशकश ठुकराई नहीं है और उस पर विचार हो रहा है. हालांकि अभी इस पर फैसला नहीं हुआ है कि सहायता ली जाए या नहीं. बयान में यह भी कहा गया है कि पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने एस एम कृष्णा को शुक्रिया कहा और उनके इस कदम का स्वागत किया. कुरैशी ने मारगला की पहाड़ियों में हुई विमान दुर्घटना में मारे गए लोगों के प्रति सहानुभूति जताने वाले संदेश पर भी शुक्रिया कहा. दोनों मुल्कों के बीच बातचीत शुरु करने की कोशिशें अभी परवान नहीं चढ़ सकी हैं. भारतीय विदेश मंत्री का पाकिस्तान दौरा भी इस मायने में नाकाम ही साबित हुआ.

पाकिस्तान में अब तक की सबसे बड़ी बाढ़ में करीब 1700 लोग मारे गए हैं और डेढ़ करोड़ लोगों का जीवन प्रभावित हुआ है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ एन रंजन

संपादनः वी कुमार

DW.COM