1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

भारत से निकला 8 साल का ये स्केटिंग अजूबा

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में पहले ही अपना नाम दर्ज करा चुके एक भारतीय बच्चे ने खुद ही एक बार फिर खुद अपना विश्व रिकॉर्ड तोड़ कर नया कीर्तिमान रच दिया है. वीडियो में देखिए 8 साल के बच्चे का कारनामा.

तिलुक काइसाम अपने स्केटबोर्ड पर सवार होकर कई विश्व रिकॉर्ड रच चुके हैं. केवल आठ साल के तिलुक ने पहले ही स्केटिंग में कई मेडल जीते थे. सबसे पहले अगस्त 2016 में उन्होंने सबसे लंबी दूरी तक पटरियों के नीचे लिम्बो स्केटिंग करते हुए गिनीज बुक के साथ अपना पहला रिकॉर्ड बनाया था. मई 2017 में अपना ही पुराना रिकॉर्ड तोड़ कर उन्होंने गिनीज बुक में अपना नया रिकॉर्ड दर्ज करवा दिया है. तिलुक ने केवल 30 सेंटीमीटर ऊंची पटरियों के नीचे से गुजरते हुए 145 मीटर की दूरी तय की है.

वीडियो में देखिए तिलुक का हैरान कर देने वाला प्रदर्शन. कैसे वे रोलर पहने दौड़ते हुए आते हैं और स्प्लिट पोजिशन में आकर पटरियों की लंबी कतार को पार कर जाते हैं.

इस रिकॉर्ड के लिए उन्हें पूरे समय अपने पूरे हाथ को जमीन से लगा कर रखना था. जो उन्होंने बखूबी किया. तिलुक ने 2013 से लिम्बो स्केटिंग का अभ्यास शुरु किया. और दिसंबर 2015 में इस तरह स्केटिंग करते हुए 116 मीटर की दूरी तय की. मूल रूप से मणिपुर से आने वाले तिलुक ने अपना दूसरा गिनीज बुक रिकॉर्ड 3 मई 2017 को केवल 56.01 सेकंड में बनाया. पहले उन्होंने 116 मीटर की दूरी तय की थी.

ऐसा प्रदर्शन करने के लिए दूसरी क्लास में पढ़ने वाला तिलुक हर सुबह 4 बजे उठ जाता है और स्कूल जाने से पहले कम से कम दो घंटे अभ्यास करता है. फिर शाम को भी अभ्यास को तीन घंटे देता है. अब तक 40 से भी अधिक मेडल जीतने वाले तिलुक का नाम बीते साल लिम्बा बुक के रिकॉर्ड में भी दर्ज हुआ.

अगस्त 2016 में भारत के ही एक छह साल के बच्चे ओम स्वरूप गौड़ा ने स्केटिंग करते हुए कारों के नीचे से गुजर कर सबसे लंबी 65 मीटर से भी अधिक दूरी तय की.

आरपी/ओएसजे

 

DW.COM