1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत में हुए विमान हादसे

हवाई उड़ानों के दौरान होने वाली दुर्घटना में हर साल कई सौ लोगों की मौत हो जाती है, लेकिन भारत हवाई यात्रा के मामले में एशिया और अफ़्रीका के दूसरे देशों की तुलना में अधिक सुरक्षित माना जाता है.

default

भारत में हवाई जहाज के सफर को कई देशों के मुकाबले बेहद सुरक्षित माना जाता है. एक नज़र भारत में हुए हवाई हादसों पर.

17 जुलाई 2000: अलायंस एयर का एक बोइंग 737-200 पटना में लैंडिग के दौरान हवाई अड्डे से दो किलोमीटर दूर एक रिहायशी इलाके में दुर्घटनाग्रस्त. 52 में 45 यात्रियों और छह विमानकर्मियों की मौत, ज़मीन पर पांच लोगों की मौत.

12 नवम्बर1996: नई दिल्ली में हवाई अड्डे के निकट 4000 मीटर की ऊंचाई पर सउदी एयरलाइंस के बोइंग 747 और कज़ाख़स्तान के इल्यूशिम आईएल 76 की टक्कर. बोइंग पर सवार 312 और इल्यूशिन पर सवार 37 लोगों की मौत.

26 अप्रैल 1993: औरंगाबाद में उड़ान भरने की विफल कोशिश के बाद इंडियन एयरलाइन्स का एक बोइंग 737-200 विमान हवाई अड्डे के सामने बिजली के तार से टकरा कर दुर्घटनाग्रस्त. पांच कर्मी दल और 52 यात्रियों की मौत.

16 अगस्त 1991: पूर्वोत्तर भारत में इंडियन एयरलाइन्स का बोइंग 737-200 इम्फाल हवाई अड्डे से 30 किलोमीटर दूर अज्ञात कारणों से दुर्घटनाग्रस्त. विमान पर सवार सभी 69 लोगों की मौत.

14 फरवरी 1990: इंडिय एयरलाइन्स का एयरबस 320 विमान बंगलोर हवाई अड्डे पर उतरने के समय रनवे से 400 मीटर पहले दुर्घटनाग्रस्त. 92 लोग मरे,

1 जनवरी 1978: मुबंई हवाई अड्डे से उड़ने के तुरंत बाद एयर इंडिया का बोइंग 747 एक धमाके के बाद समुद्र में दुर्घटनाग्रस्त. विमान पर सवार सभी 213 लोगों की मौत.

रिपोर्ट: डीपीए/महेश झा

संपादन: आभा मोंढे

संबंधित सामग्री