1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत में विदेशी महिलाओं का रेप

भारत में एक जर्मन लड़की बलात्कार की शिकार हुई है. जर्मन विदेश मंत्रालय ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि कंसुलेट पीड़ित लड़की की देखभाल कर रहा है. इसके पहले डेनमार्क की एक महिला ने दिल्ली में गैंग रेप की शिकायत की थी.

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार 18 वर्षीया जर्मन लड़की के साथ शुक्रवार को चेन्नै जाने वाली एक ट्रेन के स्लीपर कंपार्टमेंट में बलात्कार हुआ. एक पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि लड़की ने सोमवार को एफआईआर दर्ज कराई. संदिग्ध अपराधी को गिरप्तार कर लिया गया है. पीड़ित लड़की की मेडिकल जांच कराई गई है. वह एक गैर सरकारी संगठन के लिए काम करती थी और मंगलोर से चेन्नै जा रही थी. मध्य रात्रि में अभियुक्त उसके केबिन में घुस आया और उसका बलात्कार किया. लड़की ने कहा है कि वह इतना डर गई थी कि चिल्ला नहीं पाई.

इसके पहले डेनमार्क की एक महिला ने दिल्ली पुलिस में सामूहिक बलात्कार और लूट की रिपोर्ट दर्ज कराई. अधेड़ उम्र की महिला का कहना है कि दिल्ली के भीड़ भाड़ वाले क्नॉट प्लेस में उसके साथ बलात्कार हुआ. इसके बाद वह भारत से वापस चली गई.

अधिकारियों ने बताया कि 51 साल की इस महिला का कहना है कि वह मंगलवार शाम जब अपने होटल लौट रही थी, तो रास्ता भूल गई. इसके बाद उसने कुछ लोगों से रास्ता पूछा, जिन्होंने चाकू की नोंक पर उसके साथ बलात्कार किया और उसका सामान छीन लिया. यह महिला नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के सामने पहाड़गंज के एक होटल में रह रही थी.

दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता राजन भगत ने कहा, "महिला ने बताया कि वह जिस वक्त रास्ता पूछ रही थी, उस वक्त कुछ लोग उसे एक सुनसान जगह पर ले गए और उसके साथ दुष्कर्म किया गया." इसके बाद महिला से आईपैड और पैसे छीन लिए गए.

भगत ने बताया कि महिला ने इस घटना के बाद मेडिकल जांच कराने से इनकार कर दिया और बुधवार की सुबह अपने देश डेनमार्क लौट गई. महिला ने कोपेनहेगन के लिए रवाना होने से पहले दिल्ली स्थित डेनमार्क दूतावास को भी इस घटना की खबर दी.

भारत के एक समाचार चैनल का दावा है कि पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करने के बाद इलाके से 15 लोगों को हिरासत में लिया है. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक डेनमार्क की यह महिला लगभग एक हफ्ते से भारत में थी. इससे पहले वह ताजमहल देखने आगरा गई थी और मंगलवार को ही दिल्ली पहुंची थी.

हाल के दिनों में भारत में विदेशी महिलाओं के साथ उत्पीड़न के कई मामले सामने आए हैं. इसी साल पोलैंड की एक महिला ने आरोप लगाया था कि दिल्ली में एक टैक्सी ड्राइवर ने उसे धोखे से नशा करा दिया, जिसके बाद उसके साथ बलात्कार हुआ. हालांकि इस मामले को लेकर कुछ गलतफहमियां भी फैली हैं. पिछले महीने एक विदेशी महिला के बलात्कार के मामले में नेपाल के एक युवक को 20 साल कैद की सजा सुनाई गई है. हिमाचल प्रदेश में 39 साल की अमेरिकी महिला के बलात्कार के मामले में भी पिछली जुलाई में छह लोगों को आजीवन कारावास की सजा हुई है.

दिल्ली में 2012 के दिसंबर में एक छात्रा के साथ चलती बस में बलात्कार का मामला सामने आने के बाद भारत सरकार ने बलात्कार के मामलों पर गंभीर कदम उठाए हैं और सख्त कानून बनाए गए हैं. हालांकि इसके बाद भी बलात्कार की घटनाओं में बहुत कमी नहीं आई है.

एजेए/एमजे (डीपीए, एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री